onwin giris
Home उत्तराखंड राजनीति

चारधाम यात्रा को लेकर परिवहन विभाग की ओर से तैयारियां तेज

चारधाम यात्रा को लेकर परिवहन विभाग की ओर से तैयारियां तेज कर दी गई है। 18 अप्रैल से राज्य की सीमा गुरुकुल नारसन और आशारोड़ी में ग्रीन कार्ड बनाने का कार्य शुरू हो जाएगा।इसी के साथ एआरटीओ कार्यालय ऋषिकेश में भी यह काम शुरू कर दिया जाएगा। एक मई से यात्रा मार्ग पर वाहनों की जांच के लिए परिवहन विभाग की चेक पोस्ट क्रियाशील हो जाएंगी।आयुक्त गढ़वाल मंडल सुशील कुमार के निर्देश के अनुपालन में परिवहन विभाग की ओर से चारधाम यात्रा की तैयारियों को अमली जामा पहनाना शुरू कर दिया गया है। गढ़वाल मंडल के प्रवेश द्वार ऋषिकेश में परिवहन विभाग को बड़ी जिम्मेदारी निभानी है।

संयुक्त रोटेशन के अंतर्गत संचालित होने वाले वाहनों सहित यात्रा मार्ग पर जाने वाले सभी व्यावसायिक वाहनों का विवरण और जांच विभाग को करनी है। परिवहन विभाग की ओर से 18 अप्रैल से यात्रा मार्ग पर जाने वाले सभी प्रकार के वाहनों के लिए ग्रीन कार्ड बनाने का काम शुरू कर दिया जाएगा।सहायक संभागीय परिवहन अधिकारी प्रशासन अरविंद कुमार पांडे ने बताया कि बुधवार को देहरादून में परिवहन आयुक्त रणवीर सिंह चौहान की ओर से इस संबंध में आवश्यक दिशा निर्देश जारी कर दिए गए हैं। राज्य की सीमा गुरुकुल नारसन और आशारोड़ी में भी ग्रीन कार्ड बनाने का काम 18 अप्रैल से शुरू हो जाएगा। इसके अतिरिक्त एआरटीओ आफिस में भी ग्रीन कार्ड की सेवाएं उपलब्ध हो जाएंगी।

उन्होंने बताया कि ग्रीन कार्ड के लिए ऋषिकेश कार्यालय में छह काउंटर बनाए गए हैं। इनके लिए आठ लिपिक, दो संभागीय निरीक्षक प्राविधिक और 16 होमगार्ड की डिमांड मुख्यालय को भेजी गई है। एआरटीओ प्रशासन ने बताया कि ऋषिकेश- गंगोत्री मार्ग पर भद्रकाली और ऋषिकेश- बदरीनाथ मार्ग पर ब्रह्मपुरी के पास परिवहन विभाग की चेकपोस्ट एक मई से काम करना शुरू कर देगी।

इसके लिए सभी तैयारी पूर्ण कर ली गई है। इसके अतिरिक्त बस टर्मिनल कंपाउंड में यात्रियों की सुविधा के लिए बनाए गए हेल्प डेस्क में भी अलग से कर्मचारी की तैनाती की जायेगी।

चार धाम यात्रा संचालन केंद्र बस टर्मिनल कंपाउंड में यात्रा पर जाने वाले श्रद्धालुओं की सुविधा और मार्गदर्शन के लिए इस वर्ष भी हेल्प डेस्क बनाई जा रही है। मुख्य रूप से यहां यात्रा से जुड़े छह विभागों के लिए अलग-अलग केबिन बनाए जा रहे हैं। जिनमें मुख्य रुप से परिवहन विभाग, परिवहन निगम, नगर निगम, पर्यटन विभाग, पुलिस विभाग, तहसील प्रशासन शामिल है।

Similar Posts

© 2015 News Way· All Rights Reserved.