onwin giriş
Home उत्तराखंड राजनीति

भौगोलिक, सामाजिक और सांस्कृतिक रूप की समानता के साथ ही हिमाचल राज्य के राजनीति पर भी उत्तराखंड का प्रभाव

भौगोलिक, सामाजिक और सांस्कृतिक रूप की समानता के साथ ही हिमाचल राज्य के राजनीति पर भी उत्तराखंड का प्रभाव है। विशेष रूप से राज्य की सीमा से सटे सिरमौर और शिमला जिले की विधानसभा क्षेत्रों में प्रदेश भाजपा के कार्यकर्ता प्रभावी भूमिका निभा सकते हैं। इसलिए विस चुनाव से पहले हिमाचल में उत्तराखंड के कार्यकर्ता मोर्चा संभालेंगे।विधानसभा चुनाव से पहले उत्तराखंड भाजपा के कार्यकर्ता हिमाचल में मोर्चा संभालेंगे। कुछ वरिष्ठ नेताओं की एक टीम पहले ही पड़ोसी राज्य जा चुकी है। अब पार्टी उन कार्यकर्ताओं को भेजने की तैयारी में है जिन्होंने प्रदेश के विधानसभा चुनाव में सक्रिय भूमिका निभाई। पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष महेंद्र प्रसाद भट्ट ने इसकी पुष्टि की है।

प्रदेश अध्यक्ष भट्ट जब नई दिल्ली के प्रवास में थे, उसी दौरान राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा और राष्ट्रीय महामंत्री संगठन बीएल संतोष से उनकी इस विषय पर चर्चा हुई। केंद्रीय नेतृत्व ने प्रांतीय संगठन से हिमाचल राज्य में सक्रिय योगदान की अपेक्षा है।

केंद्रीय नेताओं का मानना है कि भौगोलिक, सामाजिक और सांस्कृतिक रूप की समानता के साथ ही हिमाचल राज्य के राजनीति पर भी उत्तराखंड का प्रभाव है। विशेष रूप से राज्य की सीमा से सटे सिरमौर और शिमला जिले की विधानसभा क्षेत्रों में प्रदेश भाजपा के कार्यकर्ता प्रभावी भूमिका निभा सकते हैं।इसको ध्यान में रखकर संगठन पार्टी कार्यकर्ताओं को पड़ोसी राज्य में भेजने की तैयारी कर रहा है। पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष महेंद्र भट्ट के मुताबिक कार्यकर्ताओं की सूची तैयार करने का काम जल्द शुरू हो जाएगा। चरणबद्ध ढंग से कार्यकर्ताओं को हिमाचल भेजा जाएगा और वहां भी भाजपा प्रचंड बहुमत से सत्ता में आएगी।

Similar Posts

© 2015 News Way· All Rights Reserved.