onwin giriş
Home उत्तराखंड राजनीति

उत्तराखंड चुनाव प्रभारी प्रल्हाद जोशी की मौजूदगी में प्रदेश भाजपा कार्यालय में हुई पार्टी की कोर कमेटी की बैठक

 विधानसभा चुनाव जैसे अहम मौके पर पार्टी नेताओं के बीच बयानबाजी और सार्वजनिक रूप से विवाद की घटनाओं ने पार्टी नेतृत्व को असहज किया हुआ है। केंद्रीय मंत्री एवं भाजपा के उत्तराखंड चुनाव प्रभारी प्रल्हाद जोशी की मौजूदगी में शुक्रवार को प्रदेश भाजपा कार्यालय में हुई पार्टी की कोर कमेटी की बैठक में भी यह मसला उठा। सूत्रों के मुताबिक पार्टी नेताओं को बयानबाजी से बचने की नसीहत दी गई। यह भी साफ किया गया कि पार्टी में अनुशासनहीनता के लिए कोई जगह नहीं है। बैठक में ‘एक दिशा-एक संकल्प’ के तहत आगामी विधानसभा चुनाव में जुटने की रणनीति पर भी मंथन हुआ।हालिया दिनों में रायपुर और रुड़की क्षेत्र में विधायकों व कार्यकर्त्‍ताओं के मध्य सार्वजनिक रूप से विवाद की घटनाएं सुर्खियां बनीं तो अब दो दिग्गज पूर्व मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत और कैबिनेट मंत्री डा हरक सिंह रावत के मध्य जुबानी जंग छिड़ी है। इससे पार्टी असहज हुई है। वजह यह कि भाजपा ने आगामी विधानसभा चुनाव के लिए कमर कस ली है। ऐसे में पार्टी नेताओं के बीच हो रही बयानबाजी से जनता के बीच गलत संदेश जा रहा है। साथ ही विपक्ष को भी बैठे-बिठाए मुद्दा मिल रहा है।

प्रदेश भाजपा की कोर ग्रुप की बैठक में भी यह मसला उठा। सूत्रों के अनुसार पार्टी नेताओं से साफ कहा गया कि बयानबाजी बहुत हो चुकी, अब ये बंद होनी चाहिए। यह भी हिदायत दी गई कि कोई भी ऐसा कार्य न हो, जिससे पार्टी की छवि धूमिल हो। पार्टी नेतृत्व की ओर से कहा गया कि यह मौका बयानबाजी का नहीं है। सभी का एक ही लक्ष्य व संकल्प होना चाहिए कि विधानसभा चुनाव में पार्टी पिछली बार से अधिक सीटें जीतकर फिर से अगले साल सरकार बनाए।बैठक में कोर गु्रप के सदस्यों से विधानसभा चुनाव की रणनीति के मद्देनजर सुझाव भी लिए गए। साथ ही पार्टी की ओर से निर्धारित किए गए कार्यक्रमों पर भी विमर्श किया गया। बैठक के बाद मीडिया से बातचीत में प्रदेश चुनाव प्रभारी प्रल्हाद जोशी ने कहा कि कोर कमेटी में कई अच्छे सुझाव आए हैं, जिन पर अमल किया जाएगा। उन्होंने कहा कि पार्टी पूरी तरह एकजुट है और एकजुट रहेगी। उन्होंने कहा कि बयानबाजी जैसा कुछ नहीं है।भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष मदन कौशिक ने बताया कि कोर कमेटी की बैठक में आगामी विधानसभा चुनाव की रणनीति के संबंध में विमर्श किया गया। बैठक में मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी, भाजपा के प्रदेश प्रभारी दुष्यंत कुमार गौतम, प्रदेश सह चुनाव प्रभारी आरपी सिंह व लाकेट चटर्जी, केंद्रीय राज्यमंत्री अजय भट्ट, पूर्व मुख्यमंत्री विजय बहुगुणा व त्रिवेंद्र सिंह रावत, सांसद तीरथ सिंह रावत, अजय टम्टा व माला राज्यलक्ष्मी शाह, कैबिनेट मंत्री सतपाल महाराज, डा हरक सिंह रावत व डा धन सिंह रावत, प्रदेश महामंत्री संगठन अजेय आदि मौजूद थे।

Similar Posts

© 2015 News Way· All Rights Reserved.