Home उत्तराखंड देश स्लाइड

प्रधानमंत्री समेत 36 सांसदों ने ही समय सीमा 90 दिन में संपत्ति का जानकारी; 503 सांसदों ने नहीं दिया संपत्ति और दायित्वों का विवरण

Facebooktwittermailby feather

प्रधानमंत्री समेत लोकसभा के 36 सांसदों ने ही निर्धारित समय सीमा के अंदर अपना और अपने आश्रितों का संपत्ति दायित्व विवरण लोकसभा सचिवालय में दिया है। इसके उलट कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी, सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव समेत 503 सांसदों ने 10 दिसंबर 2019 तक अपना संपत्ति-दायित्व विवरण नहीं दिया है।तय समय सीमा में ब्योरा नहीं देने वालों सांसदों में उत्तराखंड के तीन सांसद हैं। कांग्रेस के किसी भी सांसद ने यह ब्योरा नहीं दिया है। काशीपुर निवासी आरटीआई कार्यकर्ता नदीम उद्दीन ने लोक सभा सचिवालय के लोक सूचना अधिकारी से लोकसभा सदस्य (संपत्ति व दायित्वों की घोषणा) नियम 2004 के तहत संपत्ति और दायित्वों की घोषणा करने और नहीं करने वाले लोकसभा सदस्यों की सूचना मांगी थी।

लोकसभा सचिवालय के लोक सूचना अधिकारी ने 10 दिसंबर 2019 तक 17वीं लोकसभा के संपत्ति व दायित्वों की घोषणा करने और न करने वाले सदस्यों की सूचना उपलब्ध कराई है। लोकसभा के केवल 36 सदस्यों ने 10 दिसंबर 2019 तक अपने संपत्ति-दायित्वों की घोषणा की है। इसमें भाजपा के 25, ममता बनर्जी की पार्टी एआईटीसी के आठ और बीजेडी, शिवसेना और एआईडीएमके के एक-एक सांसद शामिल हैं। लोकसभा सदस्य (संपत्ति व दायित्वों की घोषणा) नियम 2004 के नियम तीन के अनुसार प्रत्येक लोकसभा सांसद को शपथ ग्रहण की तिथि से 90 दिन के भीतर अपने संपत्ति दायित्वों की सूचना लोकसभा सचिवालय को देने का नियम है। 17वीं लोकसभा के सात सांसदों को छोड़कर सभी सांसदों को 10 दिसंबर 2019 से पहले इस नियम के तहत संपत्ति दायित्वों का विवरण लोकसभा सचिवालय को देना था। 

संपत्ति विवरण देने वाले सांसदों में भाजपा से नरेंद्र मोदी, डॉ. रमेश पोखरियाल निशंक, स्मृति ईरानी, सुरेश अंगदि, रतन लाल कटारिया, प्रहलाद जोशी, विष्णु दयाल राम, गजेंद्र सिंह शेखावत, रवि शंकर प्रसाद, नरेंद्र सिंह तोमर, राजू बिस्वा, साध्वी निरंजन ज्योति, कैलाश चौधरी, देबाश्री चौधरी, संजय शमराव धौतरे, डॉ. सतपाल सिंह, अनुराग शर्मा, प्रहलाद सिंह पटेल, महेश शर्मा, निशिकांत दुबे, साध्वी प्रज्ञा सिंह ठाकुर, राजा अमरेसवर नायक, हंसराज हंस व माला राज्या लक्ष्मीशाह शामिल हैं। वहीं ऑल इंडिया तृणमूल कांग्रेस के सांसदों में सजदा अहमद, खलीलुर्रहमान, दीपक अधिकारी, माला राय, असित कुमार मल, सुदीप बंधोपाध्याय, अबु ताहिर खान व प्रसून बनर्जी शामिल हैं। इसके अतिरिक्त शिवसेना के गजानंद चंद्रकांत कृर्तिकृत, बीजेडी के अच्युतानंद सामंत व एआईडीएमके के पी. रविंद्र नाथ कुमार शामिल हैं।

Similar Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

© 2015 News Way· All Rights Reserved.