onwin giris
Home उत्तराखंड राजनीति

हल्द्वानी महानगर अध्यक्ष पद पर नियुक्ति का मामला बनी प्रदेश अध्यक्ष सुमित्तर भुल्लर और प्रदेश उपाध्यक्ष गुरप्रीत सिंह प्रिंस के बीच प्रतिष्ठा की लड़ाई

हल्द्वानी महानगर अध्यक्ष पद पर नियुक्ति का मामला अब यूथ कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष सुमित्तर भुल्लर और प्रदेश उपाध्यक्ष गुरप्रीत सिंह प्रिंस के बीच प्रतिष्ठा की लड़ाई बन चुका है। दो दिन के अंदर प्रदेश अध्यक्ष के खिलाफ मोर्चा खोलते हुए नगर व जिले के 14 पदाधिकारियों ने इस्तीफा दे दिया। अब प्रदेश उपाध्यक्ष का कहना है कि आज पूर्व सीएम हरीश रावत और कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष गणेश गोदियाल के समक्ष पूरे मामले को रखा जाएगा। युकां पदाधिकारियों की मौजूदगी में शीर्ष नेतृत्व से मामले में कार्रवाई की मांग की जाएगी।यूथ कांग्रेस लंबे समय से दो गुटों में बंटी हुई है। 27 नवंबर को प्रदेश अध्यक्ष सुमित्तर भुल्लर ने हल्द्वानी महानगर अध्यक्ष पद की जिम्मेदारी मेन बाडी के एक पदाधिकारी हेमंत साहू को सौंप दी। जिसके बाद से पूरा विवाद खड़ा हो गया।

जिले और नगर पदाधिकारियों ने साफ कहा कि नियुक्ति अवैध है।  वोटिंग के जरिये पूर्व में विधानसभा क्षेत्र अध्यक्ष का चुनाव हो चुका है। यूथ कांग्रेस में सेलेक्ट नहीं बल्कि इलेक्ट फार्मूला चलता है।जिसके बाद प्रदेश प्रभारी प्रदीप सूर्या से मामले की शिकायत हुई तो उन्होंने नियुक्ति पर रोक लगा दी। उसके बावजूद हेमंत साहू ने बुधवार को शहर में जुलूस निकाल अपना स्वागत कार्यक्रम किया। कांग्रेस कार्यालय में धन्यवाद सभा भी हुई। जिसमें प्रदेश अध्यक्ष सुमित्तर भुल्लर समेत अन्य लोग शामिल हुए। जिसके बाद मामला और बढ़ गया। प्रदेश उपाध्यक्ष गुरप्रीत का कहना है कि शुरू से तानाशाही रवैया अपनाने वाले प्रदेश अध्यक्ष अध्यक्ष प्रभारी की बात भी नहीं मान रहे। इसलिए आज पूर्व सीएम हरीश रावत व प्रदेश अध्यक्ष गणेश गोदियाल से संगठन में मनमर्जी करने वाले लोगों के खिलाफ कार्रवाई की मांग होगी।

 

Similar Posts

© 2015 News Way· All Rights Reserved.