Home उत्तराखंड

शिक्षक भर्ती में युवाओं को आयु सीमा में छूट, 50 फीसदी से कम अंक वाले अभ्यर्थियों को भी मौका

Facebooktwittermailby feather

कोरोना काल में ओवरएज हुए प्रशिक्षित बेरोजगारों को सरकारी स्कूलों में चल रही शिक्षक भर्ती में शामिल होने का अवसर मिलेगा। कार्मिक विभाग इस बाबत पहले ही आदेश कर चुका है। अब शिक्षा निदेशक आरके कुंवर ने सभी डीईओ-बेसिक को इस बारे में निर्देश जारी कर दिए हैं। बेसिक शिक्षकों के 2,200 खाली पदों पर वर्तमान में भर्ती प्रक्रिया चल रही है।

कार्मिक विभाग से आयु सीमा में छूट दिए जाने के बावजूद शिक्षा विभाग में यह रियायत नहीं मिल पा रही थी। अब शिक्षा निदेशक ने इसके आदेश जारी कर दिए हैं। आयु सीमा में छूट तो मिलेगी ही, साथ ही 29 जुलाई, 2011 तक बीएड और बीएलएड में प्रवेश ले चुके बेरोजगारों को शिक्षक भर्ती में शामिल होने का मौका मिलेगा। मालूम हो कि हाईकोर्ट ने पूर्व में 50% से कम अंक से बीएड-बीएलएड करने वालों को भी मौका देने को कहा है।

उत्तराखंड में नई व्यवस्था के तहत मौजूदा भर्ती प्रक्रिया का समय अब कुछ और बढ़ाया जाएगा। इससे दो नई श्रेणी के बेरोजगारों को भी आवेदन का मौका मिल जाएगा। कोरोना काल में नियुक्ति प्रक्रिया रुक गई थी। सीएम त्रिवेंद्र रावत ने तब यह मामला जानकारी में आने पर ओवरऐज बेरोजगारों को आयु सीमा में रियायत देने का निर्णय किया था।

Similar Posts

© 2015 News Way· All Rights Reserved.