onwin giriş
Home उत्तराखंड चारधाम यात्रा

यमुनोत्री राष्ट्रीय राजमार्ग को बड़ी बसों की आवाजाही के लिए अस्थाई रूप से सुचारू कर दिया गया

रानाचट्टी के पास यमुनोत्री राष्ट्रीय राजमार्ग को बड़ी बसों की आवाजाही के लिए अस्थाई रूप से सुचारू कर दिया गया है। सोमवार की सुबह राजमार्ग बड़े वाहनों के लिए खोल दिया गया।यहां गत बुधवार को भूधंसाव होने से मार्ग अवरुद्ध हो गया था।

छोटे वाहनों के लिए तो राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण के बड़कोट खंड की टीम ने मार्ग सुचारू किया था, लेकिन बड़ी बसों का संचालन नहीं हो रहा था। अब सोमवार की सुबह बड़ी बसों का संचालन भी शुरू हो गया है। बसों का संचालन होने से यात्रियों को सबसे बड़ी राहत मिली है। क्‍योंकि यात्री शटल सेवा और निजी छोटे वाहन चालकों की मनमानी के कारण वह खासे परेशान थे।

इससे पहले यमुनोत्री राष्ट्रीय राजमार्ग पर अवरोध होने के कारण चारधाम यात्रा पर आए तीर्थ यात्रियों का बजट गड़बड़ा गया। चारों धामों की यात्रा करने में खर्च होने वाला बजट केवल यमुनोत्री में ही खर्च हो रहा था। इसके साथ ही देश के विभिन्न राज्यों से यमुनोत्री पहुंचे यात्रियों का यात्रा का शेड्यूल भी बिगड़ रहा था।

चारधाम यात्रा करने के लिए यात्री सबसे पहले यमुनोत्री धाम पहुंचते हैं। जिसके बाद गंगोत्री, केदारनाथ और बदरीनाथ धाम की यात्रा करते हैं। हरिद्वार से चारों धामों की यात्रा करने के लिए एक यात्री का अधिकतम 15 हजार रुपये खर्च होता है। जिसमें आना-जाना, रहना और खाना शामिल होता है। लेकिन, यमुनोत्री राष्ट्रीय राजमार्ग पर रानाचट्टी के पास हुए भूधंसाव ने यात्रियों के बजट को गड़बड़ा दिया।

Similar Posts

© 2015 News Way· All Rights Reserved.