Home उत्तराखंड स्लाइड

आयुष्मान कार्ड के बिना भी ;कोरोना वायरस को महामारी घोषित करने से सरकार संक्रमित व्यक्ति का करेगी फ्री इलाज

कोरोना वायरस को महामारी घोषित करने से सरकार संक्रमित व्यक्ति का फ्री इलाज करेगी। इसके लिए यह जरूरी नहीं है कि फ्री इलाज के लिए संक्रमित मरीज के पास अटल आयुष्मान योजना का गोल्डन कार्ड होना चाहिए। जो भी व्यक्ति वायरस से संक्रमित है, उसे आईसोलेशन और उनके संपर्क में आए लोगों को क्वारेंटाइन एरिया में निशुल्क चिकित्सा सुविधा उपलब्ध करा रही है।कोई भी रोग महामारी घोषित होने पर सरकार ही उसके इलाज का पूरा खर्च उठाती है। अटल आयुष्मान योजना में प्रदेश के 23 लाख परिवारों को पांच लाख तक मुफ्त इलाज की सुविधा है। लेकिन दूसरे राज्य का जो व्यक्ति में प्रदेश में रह रहा है उसका भी वायरस संक्रमित होने पर सरकार फ्री इलाज करेगी। कोरोना वायरस के केस में संक्रमित मरीज के पास आयुष्मान योजना का गोल्डन कार्ड हो या न हो। उसका पूरा इलाज निशुल्क किया जाएगा।

चीन या अन्य कोरोना वायरस प्रभावित देशों से आने वाले लोगों की स्वास्थ्य विभाग स्वयं तलाश कर रहा है, ताकि वायरस के संक्रमण को फैलने से रोका जा सके। इंदिरा गांधी राष्ट्रीय वन अकादमी के प्रशिक्षु अधिकारियों व अन्य कर्मचारियों के 27 सैंपल जांच के लिए भेजे हैं। कोरोना वायरस की रोकथाम के लिए इलाज निशुल्क है। इसमें आयुष्मान योजना का कार्ड होने या न होने की बात ही नहीं है, जिस भी व्यक्ति में वायरस के लक्षण पाए जाएंगे, उसके सैंपल जांच के लिए भेजा जा रहा है। जांच में वायरस की पुष्टि होने पर संक्रमित व्यक्ति को कड़ी निगरानी में आईसोलेशन की सुविधा दी जा रही है

Similar Posts

© 2015 News Way· All Rights Reserved.