Home उत्तराखंड पर्यटन स्लाइड

इस साल आखिर क्यों बंद किया गया रामनगर का प्रसिद्ध गर्जिया मंदिर, जानें।

उत्तराखंड : गंगा स्नान पर्व के मौके पर पहली बार ऐसा हुआ है जब रामनगर के प्रसिद्ध गर्जिया मंदिर को बंद किया गया है। कार्तिक पूर्णिमा का स्नान रद्द करने के फैसले के बाद ये फैसला लिया गया। आपको बता दें कि गढ़वाल कुमाऊं के प्रसिद्ध तीर्थ गर्जिया मंदिर में कार्तिक पूर्णिमा पर हर साल बड़े स्तर पर गंगा स्नान मेले का आयोजन होता है। जो इस बार नहीं किया जा रहा है। इस मंदिर में उत्तराखंड के अलावा उप्र के मुरादाबाद, शाहजहांपुर, चंदौसी, रामपुर, धामपुर, नगीना, उधमसिंहनगर जिले

के कई शहरों से लगभग एक लाख श्रद्धालु पहुंचते हैं। तड़के ही कोसी नदी में स्नान करने के बाद श्रद्धालु मां गर्जिया के दर्शन के लिए कतार में लग जाते थे। इस बार कोविड के खतरे को देखते हुए मंदिर समिति ने इस आयोजन को स्थगित कर दिया था। क्योंकि गंगा स्नान के लिए कोसी में भीड़ लगने से संक्रमण का खतरा बढ़ता। प्रशासन के अनुरोध पर गंगा स्नान के दिन गर्जिया मंदिर को बंद कर दिया है
पुलिस प्रशासन भी बाहर से आने वाले श्रद्धालुओं को रोकने के लिए बैरियर लगाकर तैयारी कर चुका था।

इस बीच प्रशासन की ओर से रविवार रात में मन्दिर को भी सोमवार को बंद करने को कहा गया। इसके बाद समिति ने प्रशासन के अनुरोध पर गंगा स्नान के दिन मन्दिर को बंद कर दिया है।

Similar Posts

© 2015 News Way· All Rights Reserved.