उत्तराखंड बॉलीवुड स्लाइड

एक अफवाह ने देहरादून में तोड़ दी पॉल्ट्री इंडस्ट्री की कमर,१० दिन में 70 फीसदी तक गिरे दाम

एक वायरल खबर कोरोना वायरस चिकन खाने से होता है इस अफवाह ने पॉल्ट्री इंडस्ट्री को तगड़ा झटका लगा है। हरियाणा, दिल्ली जैसी बड़ी मंडियों में दाम कम होने से दून के व्यापारियों को खासा नुकसान हुआ है। आज भी मंदी से गुजारने के बाद अब ज्यादातर पॉल्ट्री फार्म खाली पड़े हैं।

दून में लगभग 300 पॉल्ट्री फार्म हैं। मुख्य पशु चिकित्सा अधिकारी डॉ. एसबी पांडेय ने बताया कि जिले में लगभग पांच लाख मुर्गियों का उत्पादन होता है। ब्रॉयलर यानी चिकन और लेयर यानी अंडा देने वाली मुर्गियां हैं। बताया कि कोरोना का चिकन से कोई लेना देना नहीं है। यह सिर्फ अफवाह है। लेकिन इस अफवा ने दून के पॉल्ट्री ब्यपारिओ की कमर तोड़ दी

मगर, इस अफवाह से बीते 10 दिनों में ब्रायलर के दामों में तो 70 फीसदी तक की कमी आई है। दून में चिकन के थोक भाव 40 रुपये से भी नीचे बताए जा रहे हैं। जबकि एक माह पहले तक ये दाम 80 रुपये प्रति किलो तक थे। चिकन व्यापारी मुस्तकीम अली के मुताबिक यह असर हरियाणा और दिल्ली में दाम गिरने के कारण हुआ है।

Similar Posts

© 2015 News Way· All Rights Reserved.