onwin giriş
Home उत्तराखंड राजनीति

परिवहन निगम के कारण प्रवासियों को अपने गांव लौटने के लिए जद्दोजहद करनी पड़ रही

महानगरों में नौकरी करने वाले युवा त्योहारों में गांव लौट रहे हैं। प्रवासियों को अपने गांव लौटने के लिए जद्दोजहद करनी पड़ रही। स्थिति संभालने के लिए परिवहन निगम को अतिरिक्त बसों का संचालन करना पड़ रहा है। हल्द्वानी डिपो के एजीएम एसएस बिष्ट ने बताया कि सोमवार को दिल्ली से पांच अतिरिक्त बसें लगाई गई। सामान्य दिनों में हल्द्वानी से 25 बसों का संचालन होता है। सोमवार को 30 बसें गईं। बरेली के लिए पांच बसें बढ़ाकर 10 बसें भेजी गईं। देहरादून सहित अन्य रूटों पर भी बसें फुट जा रहे हैं। मंगलवार को धनतेरस के बाद स्थिति और मुश्किल भरी होने वाली है।

दीपावली से पहले हल्द्वानी शहर को स्ट्रीट लाइट की सौगात मिली है। जिला विकास प्राधिकरण से मिली 83 लाख की धनराशि से मुखानी चौराहे से कठघरिया ब्लाक आफिस तक स्ट्रीट लाइट लगाई गई है। सोमवार देर शाम शहरी विकास मंत्री बंशीधर भगत व मेयर डा. जोगेंद्र रौतेला ने सामूहिक रूप से योजना का शुभारंभ किया। भगत ने कहा केंद्र व प्रदेश की सरकार जनता के हित में कार्य कर रही है। हल्द्वानी शहर में कई विकास कार्य हो गए हैं। मेयर डा. जोगेंद्र रौतेला ने कहा कि दमुवाढूंगा में बन रहा हल्द्वानी का सबसे बड़ा पार्क जल्द ही अस्तित्व में आ जाएगा। समारोह में पार्षद प्रमोद पंत, प्रमोद तोलिया, नीमा भट्ट, चंद्र प्रकाश, जेई केबी उपाध्याय आदि मौजूद रहे।

बर्खास्त छह कर्मचारियों की बहाली की मांग को लेकर देवभूमि उत्तराखंड सफाई कर्मचारी संघ का आंदोलन जारी है। आंदोलन को 26 दिन हो गए हैं। मेयर से दो दौर की बातचीत के बाद भी कोई हल नहीं निकला है। पिछले 12 दिनों से अनशन चल रहा है। अभी तक चार कर्मचारियों को अनशन से जबरन उठाया जा चुका है। कर्मचारियों ने एलान किया है कि उनकी नहीं सुनी गई तो दीवाली भी अनशन स्थल पर ही मनेगी।

 

Similar Posts

© 2015 News Way· All Rights Reserved.