बाबरी मस्जिद विध्वंस केस में कोर्ट द्वारा दिया गया निर्णय सत्य है न्याय की जीत हुई : मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत 

Facebooktwittermailby feather

मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र रावत ने लखनऊ की विशेष अदालत के बाबरी मस्जिद विध्वंस केस में दिए गए निर्णय का स्वागत किया है। कहा कि इसमें सत्य और न्याय की जीत हुई है।  कोर्ट का फैसला आने के बाद सीएम त्रिवेंद्र रावत ने प्रतिक्रिया देते हुए कहा कि इससे स्पष्ट हो गया कि राम मंदिर आंदोलन एक लोकतांत्रिक तरीके से किया गया आंदोलन था। इसमें कहीं कोई षडयंत्र नहीं था।

उधर, भाजपा के प्रांतीय अध्यक्ष बंशीधर भगत ने न्यायालय के निर्णय का स्वागत करते हुए कहा कि अंततः सत्य की जीत हुई है। श्री राम मंदिर आंदोलन से जुड़े रहे भगत ने कहा कि 28 वर्ष तक मुक़दमा चलने के बाद यह निर्णय आया। श्री राम मंदिर का विषय राजनीति का नहीं अपितु आस्था का विषय है,  जबकि अन्य दल इस पर राजनीति करते रहे और इस मुक़दमे को लेकर हर चुनाव में भाजपा को आरोपित करते रहे।

भगत ने कहा कि हमेशा मान्यता रही कि यह स्थान भगवान राम की जन्म भूमि है। इस बारे में उच्चतम न्यायालय ने भी पुरातत्व सर्वेक्षण विभाग द्वारा प्रस्तुत साक्ष्यों आदि के आधार पर इस स्थान को भी श्री राम जन्म भूमि मानते हुए निर्णय दिया। अब जन्म भूमि स्थान पर मंदिर निर्माण हो रहा है और  निर्णय ने भी साफ़ हो गया कि बाबरी ढांचा किसी षड्यंत्र के तहत नहीं गिराया गया, बल्कि जो हुआ तात्कालिक था।