Home उत्तर प्रदेश

उत्तराखंड में लोकनिर्माण विभाग की बड़ी लापरवाही अपने द्वारा किए गए कामो के गुणवत्ता के प्रमाण खुद ही दे देता है

राज्य में लोक निर्माण विभाग के भ्रष्टाचार की पोल एक बार नहीं हर रोज कहीं न कहीं खुलती हैं। फिर एक बार लोनिवि का बनाया पुल विभाग की पोल खोल रहा है। वैसै पोल खोल नहीं रहा उधेड़ रहा है। उत्तराखंड में कही विभाग ऐसी सड़क बनाता है कि उसका डामर बिस्तर पर बिछे चदर की तरह आसानी से लपेटा जाता है। जिस पुल का निर्माण वर्ष 2018 में हुआ था उसकी एप्रोच रोड तीन साल से भी कम समय में ही ध्वस्त हो गई। शुक्र है जिस वक़्त ए घटना घटी उस वक्त कोई वाहन पुल से नहीं गुजर रहा था। एप्रोच रोड ध्वस्त होने की सूचना पर राजमार्ग खंड के अधीक्षण अभियंता रणजीत सिंह, अधिशासी अभियंता जेएस रावत मौके पर पहुंचे और हमेशा की तरह कारणों की पड़ताल की जाने लगी।

यह पुल थानो रोड पर बडासी के पास बना है। पुल की रायपुर की तरफ वाली एप्रोच रोड पर बुधवार दोपहर को धंसाव देखने को मिला था। इसके चलते एप्रोच की दीवार भी बाहर की तरफ निकल आई थी। यह धंसाव धीरे-धीरे कर बढ़ने लगा और देर शाम को एप्रोच रोड का एक हिस्सा पूरी तरह ध्वस्त हो गया। अधिशासी अभियंता का कहना है कि पुल का निर्माण उनके कार्यकाल से पहले किया गया है। लिहाजा गुणवत्ता को लेकर वह कुछ टिप्पणी नहीं कर सकते बात भी सही है अपने ही विभाग की पोल खुद कैसे खोलें। जानकारी के मुताबिक थानो रोड पर बडासी के पास यह पुल अक्टूबर 2018 में इन्वेस्टर्स समिट शुरू होने से कुछ समय पहले बनाया गया था। उस समिट से इन्वेस्ट कितना आया ये तो सरकार जाने लेकिन जो काम सरकार ने कराए वो जनता को प्रत्यक्ष दिख रहा है।

Similar Posts

© 2015 News Way· All Rights Reserved.