Home उत्तराखंड

उत्तराखंड परिवहन निगम की बसें न किसी राज्य में जाएंगी ना ही किसी राज्य से उत्तराखंड आएगी बसों का संचालन हुआ पुरी तरह ठप।

बढ़ते कोरोना संक्रमण को देखते हुए दूसरे राज्यों से आने वालों के लिए नियम सख्त कर दिए हैं। जिस कारण से राज्य में कम लोगों की आवाजाही हो रही है। कोरोना वायरस के प्रकोप के कारण एक बार फिर उत्तराखंड परिवहन निगम को गहरी चोट पहुंचाई है। कोरोना संक्रमण के बढ़ते प्रकोप के बाद राज्य सरकार ने बसों में 50 प्रतिशत यात्रियों को ही यात्रा की ही अनुमति दी थी। अब उत्तराखंड रोडवेज ने दूसरों राज्यों के लिए बसों के संचालन को बिल्कुल बंद कर दिया है। इससे रोडवेज की कमाई में भारी गिरावट आई है।

कोरोना संक्रमण की वजह से गढ़वाल से बसें कुमाऊं और कुमाऊं से गढ़वाल मंडल के बीच चलने वाली बसों का संचालन भी ठप हो गया है। अब दोनों मंडलों के भीतर कुछ बसे जरूर चल रही हैं लेकिन उन्हें यात्रियों के लिए जूझना पड़ रहा है। यूपी में भी लॉकडाउन चल रहा है। वहां सार्वजनिक परिवहन बिल्कुल बंद हैं। तीन दिन पहले यूपी ने दिल्ली गुरुग्राम फरीदाबाद लखनऊ बरेली आगरा कानपुर समेत अलग अलग शहरों तक जाने वाली उत्तराखंड की रोडवेज की बसों को वापस लौटा दिया गया था।

इसके बाद उत्तराखंड रोडवेज प्रबंधन ने भी यूपी की बसों को रोक दिया था। चंडीगढ़ और हिमाचल ने भी अंतरराज्यीय परिवहन बंद किया है। ऐसे में यहां उत्तराखंड रोडवेज की बसों का संचालन ठप हो गया है। गढ़वाल और कुमाऊं के बीच यूपी का भी कुछ क्षेत्र आता है। इस वजह से इस रूट पर भी बस नहीं चल पा रही है। रोडवेज के महाप्रबंधक दीपक जैन ने बताया कि अंतरराज्जीय संचालन बंद हो चुका है। गढ़वाल और कुमाऊं मंडल के बीच सीमित संख्या में बसें चल रही हैं।

Similar Posts

© 2015 News Way· All Rights Reserved.