Home उत्तराखंड राजनीति

मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत के बयान से राज्य में भड़की सियासत

Share and Enjoy !

भगवान राम से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की तुलना को लेकर मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत के बयान से राज्य में सियासत गर्मा गई है। कांग्रेस ने इस मामले में मुख्यमंत्री पर तीखा हमला बोला है। पूर्व मुख्यमंत्री एवं कांग्रेस के राष्ट्रीय महासचिव हरीश रावत ने कहा कि भगवान राम व कृष्ण से किसी मानव या विशिष्ट मानव की तुलना नहीं की जा सकती है। नए मुख्यमंत्री, मोदी भक्ति करें अच्छी बात है, लेकिन जन आस्था और संस्कृति का अवमूल्यन नहीं किया जा सकता। उन्होंने नए मुख्यमंत्री को आगे संभलकर बोलने की नसीहत भी दी।

मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत ने बीते रविवार को हरिद्वार में एक कार्यक्रम में कहा था कि जैसे द्वापर और त्रेता में राम और कृष्ण हुए और उन्होंने जो काम किए, उससे लोग उन्हें भगवान मानने लगे। आज देश में नरेंद्र मोदी जो काम कर रहे हैं, आने वाले समय में मोदी को भी उसी रूप में मानने लगेंगे। मोदी हैं तो मुमकिन है। बीती 10 मार्च को मुख्यमंत्री पदभार संभालने वाले तीरथ सिंह रावत के इस बयान को कांग्रेस ने मुद्दा बना लिया है।

सोमवार को मीडिया से बातचीत में पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत ने कहा कि भाजपा के मुख्यमंत्री, जिनकी नई-नई नौकरी लगी है, उनका बयान पचाना बेहद कठिन है। तीरथ सिंह रावत को देवभूमि के मुख्यमंत्री के नाते संभलकर बोलना चाहिए। प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष प्रीतम सिंह ने कहा कि मुख्यमंत्री का बयान चापलूसी की पराकाष्ठा है। ऐसा दूसरा उदाहरण मिलना मुश्किल है। मुख्यमंत्री को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को भगवान राम के समकक्ष रखने का कोई अधिकार नहीं है। भगवान राम पर पूरे हिंदू समाज की आस्था है। उनकी आस्था से खेला नहीं जा सकता।

Share and Enjoy !

Similar Posts

© 2015 News Way· All Rights Reserved.