स्पोर्ट्स

शिखर धवन ने अकेले ढहाया लंका का ‘किला’, लगातारी छठी सीरीज जीत टॉप पर पहुंची टीम इंडिया

Facebooktwittermailby feather

भारत की ये लगातार पांचवीं सीरीज और साल की छठी वनडे सीरीज जीत है.

 खास बातें

  1. टीम इंडिया ने तीसरा मैच 8 विकेट से जीता
  2. श्रीलंका का पहला सीरीज जीत का सपना नहीं हुआ पूरा
  3. इस साल भारत ने जीती छठी वनडे सीरीज

नई दिल्ली : विशाखापत्तनम में खेले गए तीसरे वनडे मैच में शिखर धवन की धुआंधार शतकीय पारी (85 बॉल में 100 रन) की बदौलत टीम इंडिया ने श्रीलंका के खिलाफ आठ विकेट की शानदार जीत दर्ज की है. इसके साथ ही टीम इंडिया ने सीरीज 2-1 से अपने नाम कर ली. इस तरह से टीम इंडिया ने श्रीलंका का पहली बार भारत में सीरीज जीतने का सपना तोड़ दिया. भारत की ये लगातार पांचवीं सीरीज और साल की छठी वनडे सीरीज जीत है. टीम की कप्तानी इस सीरीज में विराट कोहली की जगह रोहित शर्मा ने की. हालांकि जिस अंदाज में टीम इंडिया ने पहले वनडे में हथियार डाले थे, उससे क्रिकेट फैंस को ये सीरीज रोमांचक होने की उम्मीद लग रही थी. लेकिन ऐसा हुआ नहीं.

सीरीज के दोनों मैच टीम इंडिया ने अपना जबर्दस्त खेल दिखाते हुए जीते. हालांकि अनिश्चितता और तेजी लिए हुए विकेट पर उनकी कलई भी खुली. लेकिन टीम ने जल्द ही लय हासिल की और अपनी जीत का सिलसिला जारी रखा. तो आइए जानते हैं कि इस मैच में जीत के 5 कारण कौन कौन से रहे…

  1. 95 रन पर खेल रहे थरंगा की स्टंपिंग बनी टर्निंग प्वाइंट
    पहले बल्लेबाजी करते हुए श्रीलंका की टीम ने पहला विकेट गिरने के बाद शानदार खेल दिखाया. खासकर उपुल थरंगा ने. जब वह विकेट पर खेल रहे थे, तो लग रहा था कि श्रीलंकाई टीम 300 रन पार कर जाएगी. लेकिन उनके 95 रन पर आउट होते ही श्रीलंकाई टीम धराशाई हो गई. पूरी टीम 50 ओवर भी नहीं खेल पाई और 215 रन बनाकर चलती बनी. थरंगा को स्टंप धोनी ने किया. उन्होंने एक तरह से इस मैच में भारत की वापसी कराई.
  2. शिखर धवन की शतकीय पारी
    बड़ा स्कोर न होने के बावजूद शिखर धवन ने इस मैच में धैर्य के साथ बल्लेबाजी करते हुए न सिर्फ शतक बनाया, बल्कि अपनी टीम को सीरीज भी जिता दी. वह शतक बनाकर नाबाद लौटे. उन्होंने 100 रनेां की पारी खेली. इसके साथ ही उन्होंने वनडे क्रिकेट में 4000 रन भी पूरे कर लिए. श्रेयस अय्यर के साथ उन्होंने 135 रनों की साझेदारी की.
  3. कुलदीप यादव की शानदार वापसी
    दूसरे मैच में टीम से बाहर बैठे चाइनामैन कुलदीप यादव को तीसरे मैच में जगह दी गई. आते ही उन्होंने मौके को भुना लिया. इस मैच उन्होंने 10 मैच में 42 रन देकर 3 विकेट लिए. वह मैच के सबसे कामयाब बॉलर रहे. खासकर उनके एक ओवर में दो विकेट ने मैच की दिशा बदल दी. उनकी ही गेंद पर धोनी ने थरंगा को स्टंप आउट किया. हालांकि कुलदीप यादव इस टीम का हिस्सा हैं, लेकिन दक्षिण अफ्रीका जाने वाली टीम में वह नहीं खेल रहे हैं.
  4. युजवेंद्र चहल ने भी दिखाया दम
    टीम इंडिया के दूसरे स्पिनर युजवेंद्र चहल ने भी मैच में शानदार गेंदबाजी करते हुए अपनी फिरकी से श्रीलंकाई बल्लेबाजों के पैर बांध दिए. उन्होंने 10 ओवर में 46 रन देकर 3 विकेट लिए. उन्हें खेलने में श्रीलंकाई बल्लेबाज कितने बेबस थे, इसका अंदाजा इसी बात से लगाइए कि उन्होंने 3 ओवर मेडन फेंके. ये उनकी फिरकी का ही कमाल था कि श्रीलंकाई बल्लेबाजी 215 रन के स्कोर पर सिमट गई.
  5. शिखर धवन और श्रेयस अय्यर की साझेदारी
    हालांकि इस मैच में श्रीलंका की टीम बड़ा स्कोर नहीं बना सकी, लेकिन फिर भी जब 14 रन के स्कोर पर टीम इंडिया ने रोहित शर्मा का कीमती विकेट खो दिया, ऐसे में थोड़ा सा दबाव तो टीम पर आया ही. लेकिन शिखर धवन और श्रेयस अय्यर ने 135 रनों की साझेदारी कर मैच को श्रीलंका से छीन लिया. श्रेयस अय्यर ने अपने करियर का ये लगातार दूसरा अर्धशतक जमाया. ये उनका तीसरा वनडे मैच था. पहले वनडे में जल्दी आउट होने वाले अय्यर ने दूसरे मैच में 88 रन बनाए. तीसरे मैच में उन्होंने 63 बॉल में 65 रन बनाए.

Similar Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

© 2015 News Way· All Rights Reserved.