Home उत्तराखंड एजुकेशन

कोरोना की दूसरी लहर के साये में स्नातक और स्नातकोत्तर की सेमेस्टर परीक्षाएं बनी पहाड़

Share and Enjoy !

कोरोना की दूसरी लहर के साये में स्नातक और स्नातकोत्तर की सेमेस्टर परीक्षाएं छात्र-छात्राओं के साथ-साथ दून के चार बड़े कॉलेज प्रबंधन के लिए चुनौती होगी। पिछले एक पखवाड़े में दून में सर्वाधिक कोरोना पॉजिटिव मामले आए हैं। डीएवी, डीबीएस, एमकेपी और श्री गुरु राम राय पीजी कॉलेज में करीब दस हजार छात्र-छात्राएं स्नातक व स्नातकोत्तर की परीक्षाएं दे रहे हैं। कुंभ मेले के चलते नौ से 15 अप्रैल के बीच की परीक्षाएं तो हेमवती नंदन बहुगुणा केंद्रीय विवि ने स्थगित कर दी थी, जिससे दून के कॉलेजों ने राहत की सांस ली। अब 16 से 30 अप्रैल के बीच परीक्षाएं आयोजित होनी हैं। डीबीएस पीजी कॉलेज के प्राचार्य डॉ. वीसी पांडे का कहना है कि दून में कोरोना संक्रमण के मामले लगातार बढ़ रहे हैं। इसे देखते हुए परीक्षा केंद्रों पर कोविड-19 की गाइडलाइन का कड़ाई से पालन कराया जाएगा।

डीएवी पीजी कॉलेज के प्राचार्य डॉ. अजय सक्सेना ने कहा कि कॉलेज में शुक्रवार से स्नातक व स्नातकोत्तर की परीक्षाएं पुन: आरंभ हो रही हैं। कोरोना संक्रमण को देखते हुए कॉलेज प्रशासन कतई ढिलाई नहीं बरतेगा। हल्के बुखार की शिकायत पर भी छात्र को परीक्षा केंद्र में नहीं बैठने दिया जाएगा। छात्र-छात्राओं, शिक्षक व कॉलेज कर्मचारियों को मास्क के बिना कैंपस में आने की अनुमति नहीं है। कॉलेज गेट पर थर्मल स्कैनिंग, सैनिटाइजर की व्यवस्था की गई है। छात्र-छात्राएं बाजार घूमने से बचें और अपने कमरे से सीधे परीक्षा केंद्र पहुंचे। शारीरिक दूरी नियम का पालन करें।

एमकेपी पीजी कॉलेज की प्राचार्य डॉ. रेखा खरे का कहना है कि गढ़वाल विवि के संशोधित परीक्षा कार्यक्रम के अनुसार 16 अप्रैल से सेमेस्टर परीक्षाएं शुरू होंगी। छात्राओं को समूह में कैंपस के अंदर प्रवेश नहीं करने दिया जाएगा। दो गज की दूरी नियम का पालन करने संबंधी निर्देश कॉलेज परिसर में चस्पा किए गए हैं। निदेशक उच्च शिक्षा प्रो. कुमकुम रौतेला ने बताया कि सर्दी जुकाम और हल्के बुखार की शिकायत वाले शिक्षक, छात्र व कॉलेज कर्मचारी तत्काल आरटी-पीजीआर कोरोना टेस्ट कराएं, ताकि अन्य व्यक्ति संक्र मित न हों। परीक्षा के दौरान मास्क का प्रयोग, दो गज की दूरी व सैनिटाइजर का प्रयोग अवश्य करें। छात्र-छात्राएं ग्रुप में रहने की आदत त्यागें शारीरिक दूरी बहुत जरूरत है।

Share and Enjoy !

Similar Posts

© 2015 News Way· All Rights Reserved.