onwin giris
Home उत्तराखंड मेडिकल स्लाइड

उत्तराखंड के रुड़की में कोरोना के बढ़ते संक्रमण आईआईटी रुड़की के अस्पताल के छह कमरे आइसोलेशन वार्ड में तब्दील किये

उत्तराखंड के रुड़की में कोरोना के बढ़ते संक्रमण को देखते हुए हरिद्वार जिला प्रशासन ने आईआईटी रुड़की के अस्पताल के छह कमरों को अपने अंडर में लेकर आइसोलेशन वार्ड में तब्दील कर दिया है। इसे आपात स्थिति के लिए रिजर्व रखा गया है। वहीं, 14 दिन की निगरानी में रखे गए आईआईटी के तीन छात्रों को छुट्टी दे दी गई तो विदेश से लौटे एक प्रोफेसर समेत नौ छात्रों को आइसोलेशन वार्ड में भर्ती कर निगरानी शुरू कर दी गई है। दूसरी ओर, सिविल अस्पताल में खांसी, जुकाम की शिकायत पर अस्पताल पहुंचे दो मरीजों का सैंपल जांच के लिए दिल्ली भेजा गया है। आईआईटी रुड़की के अस्पताल के छह कमरों को जिला प्रशासन ने आइसोलेशन वार्ड में परिवर्तित कर स्वास्थ्य विभाग की टीम नियुक्त कर दी है।

जरूरत पड़ने पर यहां कोरोना के संदिग्ध भर्ती होंगे तो आईआईटी प्रशासन केवल सहयोग करेगा। इलाज समेत सभी प्रकार की सुविधाएं स्वास्थ्य विभाग खुद करेगा। फिलहाल, इस वार्ड में किसी मरीज को भर्ती नहीं किया गया है, लेकिन आईआईटी के खोसला इंटरनेशनल हाउस में बनाए गए आइसोलेशन वार्ड में एक प्रोफेसर समेत नौ नए छात्र निगरानी के लिए भर्ती किए गए हैं। ये छात्र कुछ दिन पहले स्पेन और अमेरिका से लौटे हैं। जबकि, हाइड्रोलॉजी विभाग के एक प्रोफेसर हाल ही में विदेश से लौटे हैं। सभी की हालत सामान्य है। इसके अलावा पहले से भर्ती चार छात्रों में से तीन को छुट्टी दे दी गई है।

वहीं, सिविल अस्पताल में दो मरीज शुक्रवार को खुद खांसी-जुकाम की शिकायत लेकर पहुंचे। जांच के बाद उनको संदिग्ध मानते हुए विशेष वार्ड में भर्ती कर दिया है। इनमें एक कानपुर और दूसरा केरल से लौटा है। दोनों के खून के नमूने जांच के लिए भेज दिए गए हैं। सीएमएस संजय कंसल ने कहा कि कोरोना से निपटने के लिए सिविल अस्पताल में विशेष वार्ड बनाया गया है। डॉक्टरों को इलाज के लिए सुरक्षित ड्रेस भी उपलब्ध करा दी गई है। इस वार्ड में 40 बिस्तर हैं, जिन्हें जरूरत पड़ने पर बढ़ाया जा सकता है। उन्होंने कहा कि हम संक्रमण नियंत्रण की सभी प्रक्रियाओं का पालन कर रहे हैं। संदिग्ध मामलों को देखते हुए सुरक्षात्मक उपकरणों का प्रयोग कर रहे हैं। फिलहाल मरीजों के तीमारदारों और रिश्तेदारों को मिलने से रोक रहे हैं। जरूरत है तो संक्रमणरोधी ड्रेस पहनाकर ही मिलने दिया जा रहा है।

Similar Posts

© 2015 News Way· All Rights Reserved.