Home उत्तराखंड स्लाइड

उत्तराखंड के रुद्रप्रयाग जिले में 65 माध्यमिक स्कूलों में नहीं मुखिया

एक प्रिंसिपल एक नहीं दो नहीं बल्कि 13 स्कलों का चार्ज एक साथ संभाले तो सुनकर हैरानी ही होगी। जी हां, ऐसा हुआ है उत्तराखंड के रुद्रप्रयाग में राजकीय बालिका इंटर कालेज में। यहां कॉलेज की प्रधानाचार्य जिले के अन्य 13 विद्यालयों का जिम्मा भी संभाल रहीं हैं।इन हालात में प्रधानाचार्य का पूरा महीना स्कूलों की फाइलों और विभागीय डाक को निपटाने में ही गुजर रहा है। दूसरी ओर, स्कूलों के कार्मिकों को वेतन समेत अन्य बिलों पर प्रधानाचार्य के हस्ताक्षर कराने के लिए जिला मुख्यालय तक की दौड़ लगानी पड़ रही है।

 जनपद में कुल 109 माध्यमिक विद्यालय हैं, इनमें 81 इंटर कॉलेज और 28 हाईस्कूल शामिल हैं। प्रधानाचार्यों की तैनाती का हाल यह है कि सिर्फ 44 में ही प्रधानाध्यापक/प्रधानाचार्यों की तैनाती है।

मुखिया के बगैर संचालित हो रहे माध्यमिक विद्यालय

65 माध्यमिक विद्यालय मुखिया के बगैर संचालित हो रहे हैं। जिला मुख्यालय स्थित 108 स्वामी सच्चिदानंद राजकीय आदर्श इंटर कॉलेज में तीन वर्ष से प्रिंसिपल नहीं हैं। इस विद्यालय के साथ-साथ जीआईसी पीड़ा-धनपुर, बाड़ा, पित्रधार, खेड़ाखाल, टैठी, जवाड़ी, ग्वेफड़, खांकरा और राजकीय हाईस्कूल भुनका समेत 13 विद्यालयों का चार्ज राजकीय बालिका इंटर कॉलेज रुद्रप्रयाग की प्रधानाचार्या  डॉ. ममता नौटियाल के पास है। जीआईसी रतूड़ा के प्रधानाचार्य के पास भी तीन अन्य स्कूलों का चार्ज है। खंड शिक्षा अधिकारियों (बीईओ) को भी प्रधानाचार्य का अतिरिक्त जिम्मा दिया गया है। अगस्त्यमुनि के बीईओ केएल रड़वाल के पास भीरी, भणज, बष्टी, मणिपुर समेत छह स्कूलों, जखोली बीईओ के पास पांच और एबीईओ ऊखीमठ के पास बीईओ के अलावा तीन इंटरमीडिएट कॉलेजों का चार्ज है।

Similar Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

© 2015 News Way· All Rights Reserved.