Home उत्तराखंड राजनीति

तीरथ रावत की राजनीतिक रणनीतियां तैयार सरकार और संगठन में नियमित कार्य पर जोर

बदली परिस्थितियों में नेतृत्व परिवर्तन के बाद अब सरकार और संगठन में बेहतर समन्वय पर जोर दिया जा रहा है। इस कड़ी में नवनियुक्त मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत ने मंत्री परिषद के साथ इस सिलसिले में भाजपा के प्रदेश प्रभारी व प्रदेश अध्यक्ष के साथ बैठक में मंथन किया। माना जा रहा कि इस दौरान आगामी 18 मार्च को भाजपा सरकार के चार साल पूरे होने के अवसर पर होने वाले कार्यक्रमों के साथ ही आगामी विधानसभा चुनाव की रणनीति पर विमर्श किया गया।

सचिवालय में हुई बैठक में मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत व उनके मंत्री परिषद के सभी सदस्य, भाजपा के प्रदेश प्रभारी दुष्यंत कुमार गौतम, सह प्रभारी रेखा वर्मा और प्रदेश अध्यक्ष मदन कौशिक ने शिरकत की। इस दौरान विभिन्न मसलों पर चर्चा की गई। बैठक को सरकार व संगठन के मध्य बेहतर समन्वय का संदेश देने के तौर पर भी देखा जा रहा है।मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत ने शुक्रवार को राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के तिलक रोड स्थित कार्यालय पहुंचकर संघ नेताओं से विभिन्न विषयों पर विचार-विमर्श किया। माना जा रहा कि इस दौरान उन्होंने मंत्री परिषद के सदस्यों की जानकारी भी संघ नेताओं को दी।

मुख्यमंत्री रावत सबको साथ लेकर चलने की नीति पर चल रहे हैं। उनकी यह पहल शुक्रवार को तब नुमायां हुई, जब मंत्री परिषद में शामिल किए जाने वाले विधायकों को मुख्यमंत्री ने खुद भी फोन कर इसकी जानकारी दी। इससे पहले भाजपा संगठन की ओर से मंत्री परिषद में शामिल होने वाले मंत्रियों को इसकी सूचना दी गई, जबकि बाद में गोपन विभाग से।

Similar Posts

© 2015 News Way· All Rights Reserved.