उत्तराखंड यात्रा रजिस्ट्रेशन न होने से यात्री फंसे

Facebooktwittermailby feather

राज्य के भीतर यात्रा करने वालों को करीब 19 घंटे फजीहत झेलनी पड़ी। स्मार्ट सिटी वेबसाइट पर रजिस्ट्रेशन नहीं होने से लोगों को यात्रा स्थगित तक करनी पड़ी। अफसर कहते रहे कि राज्य के भीतर यात्रा के लिए रजिस्ट्रेशन की जरूरत नहीं है। इधर, सरकार ने मंगलवार शाम गाइडलाइन में इसे जरूरी कर दिया था।

मंगलवार शाम अनलॉक-4 गाइडलाइन जारी होते ही मुश्किलें भी शुरू हो गई। इसमें राज्य के भीतर यात्रा के लिए रजिस्ट्रेशन जरूरी कर दिया गया। इसकी पहले छूट दी गई थी। जिन लोगों को मंगलवार शाम को ही तत्काल यात्रा करनी थी, वह नियम कायदों के फेर में स्मार्ट सिटी की वेबसाइट में उलझ गए। राज्य के भीतर ट्रेन और हवाई जहाज से यात्रा करने वालों के भी रजिस्ट्रेशन नहीं हो पाए।

पारिवारिक सदस्य की मृत्यु सूचना पर दून से अल्मोड़ा जा रहे एक परिवार को पूरी रात इंतजार करना पड़ा। पंजीकरण हो जाता तो वह अंतिम संस्कार में शामिल हो पाते। बुधवार सुबह टैक्सी घर के आगे खड़ी थी और रजिस्ट्रेशन तक नहीं हो पाया। मामला अफसरों के संज्ञान में लाया गया तो दोपहर पौने दो बजे यह प्रक्रिया शुरू हुई।