Home उत्तराखंड राजनीति

मुख्यमंत्री द्वारा रविवार को रामनगर में बयान पर विपक्ष कांग्रेस का हल्लाबोल

मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत द्वारा रविवार को रामनगर में प्रति यूनिट पांच किलो चावल देने और देश के 200 साल तक अमेरिका का गुलाम रहने संबंधी बयान पर विपक्ष कांग्रेस ने मुख्यमंत्री के खिलाफ हमलावर रुख अख्तियार किया है। वहीं, भाजपा का कहना है कि मुख्यमंत्री की बात को सही परिप्रेक्ष्य में समझा जाना चाहिए।मुख्यमंत्री के बयान के बाद कांग्रेस को बैठे-बिठाये मुद्दा मिल गया और उसने इसे लपकने में देर भी नहीं लगाई। पूर्व मुख्यमंत्री व कांग्रेस के राष्ट्रीय महासचिव हरीश रावत ने तंज कसते हुए कहा कि राज्य के मुख्यमंत्री का इतिहास ज्ञान धन्य है। उन्होंने देश को 200 सालों तक अमेरिका का गुलाम बना दिया। उनकी नजरों में गोरे लोग, जो अमेरिका या ब्रिटेन में रह रहे हों, एक समान हैं। उनके दूसरे बयान से उनकी समझ का पता चलता है। वह कह रहे हैं जिसे 10 किलो राशन मिलता है, उसे 100 किलो राशन पाने वाले से जलन हो रही है। गलती उनकी है जिन्होंने दो ही बच्चे पैदा किए, यदि 20 बच्चे पैदा किए होते तो भरपूर राशन मिलता। मुख्यमंत्री के बयान पर केवल हंसा जा सकता है और कुछ नहीं किया जा सकता।

कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष प्रीतम सिंह ने कहा कि परिवार नियोजन पर ऐसा एतिहासिक वक्तव्य भाजपा के विद्वान मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत ही दे सकते हैं। इन्हें मुख्यमंत्री बनाने वाले धन्य हैं। नए मुख्यमंत्री से उत्तराखंड को बड़ी उम्मीदें थीं, लेकिन मात्र 10 दिन में ही टीएसआर-2 ने अपनी बुद्धिमत्ता का परिचय दे दिया। इससे साफ हो गया कि वे बचे एक साल में उत्तराखंड को गर्त में धकेलने का काम करेंगे।उधर, भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष मदन कौशिक ने कहा कि मुख्यमंत्री ने किस परिप्रेक्ष्य में बातें कहीं, उन्हें इसकी जानकारी नहीं है। अलबत्ता, मुख्यमंत्री के बयान को संपूर्णता और सही परिप्रेक्ष्य में देखने की जरूरत है।

Similar Posts

© 2015 News Way· All Rights Reserved.