Home उत्तराखंड राजनीति

मुख्यमंत्री धामी ने सभी प्रभारी मंत्रियों से अपने प्रभार वाले जिलों में आपदा राहत कार्यों का स्थलीय निरीक्षण करने की अपेक्षा की है

मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने सभी प्रभारी मंत्रियों से अपने प्रभार वाले जिलों में आपदा राहत कार्यों का स्थलीय निरीक्षण करने की अपेक्षा की है। उन्होंने कहा कि प्रभारी मंत्री जिलों के अधिकारियों के साथ बैठक कर राहत कार्यों की जानकारी लें और इसमें तेजी लाने के लिए दिशा-निर्देश दें, ताकि प्रभावितों को जल्द राहत मिल सके।गुरुवार को मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने सभी प्रभारी मंत्रियों को पत्र लिखकर कहा कि प्रदेश में आई प्राकृतिक आपदा से प्रभावित व्यक्तियों को राहत प्रदान करने के लिए सभी अपने-अपने जिलों का भ्रमण करें। इस दौरान आपदा प्रभावित क्षेत्रों का स्थलीय निरीक्षण करने के साथ ही बचाव एवं राहत कार्यों की समीक्षा, राहत सामग्री व राहत धनराशि का वितरण करें एवं प्रभावित परिवारों की कुशलक्षेम जानें।इसके साथ ही अधिकारियों के साथ बैठक कर क्षतिग्रस्त अवस्थापना सुविधाओं के पुनर्निर्माण में भी तेजी लाने के लिए आवश्यक कदम उठाएं। उन्होंने यह भी कहा कि मौजूदा समय में प्रदेश के तकरीबन सभी जिले भारी बरसात के कारण आपदा से प्रभावित हुए हैं।

भूस्खलन व बाढ़ के कारण काफी नुकसान हुआ है। इस स्थिति से निपटने के लिए सरकार लगातार प्रयास कर रही है। राहत व बचाव कार्य तेजी से चलाए जा रहे हैं। उन्होंने इस संबंध में सभी मंत्रियों से व्यक्तिगत ध्यान देने के साथ ही आवश्यक सहयोग की भी अपेक्षा की है।पूर्व मुख्यमंत्री एवं प्रदेश कांग्रेस चुनाव अभियान समिति के अध्यक्ष हरीश रावत ने एक बार फिर बागियों को पार्टी में शामिल करने की कोशिशों को निशाने पर लिया। उनहेांने कहा कि पार्टी उन्हीं व्यक्तियों को पार्टी में शामिल कराएगी, जिनका कार्यकर्त्‍ता स्वागत करेंगे।इंटरनेट मीडिया पर अपनी पोस्ट में हरीश रावत ने यह स्पष्ट किया कि कांग्रेस में हर किसी की एंट्री नहीं होने वाली है। वह इसे कतई स्वीकार नहीं करेंगे। खासतौर पर पिछली कांग्रेस सरकार में बगावत करने वाले उनके निशाने पर रहते हैं। उन्होंने कहा कि पार्टी में उन्हीं को शामिल किया जाएगा, जिनके लिए कार्यकर्त्‍ताओं की बाहें आगे बढ़ी हुई हैं।

Similar Posts

© 2015 News Way· All Rights Reserved.