कोरोनकाल में चल रही Online पढ़ाई से बच्चों में हो रही शारीरिक और मानसिक परेशानियां

Facebooktwittermailby feather

बच्चे इस समय Online पढ़ाई कर रहे हैं। स्कूल टाइम शुरू होते ही लैपटॉप, डेस्क टॉप या मोबाइल के जरिए ऑनलाइन क्लास लग जाती है। Online पढ़ाई का बच्चों की शारीरिक और मानसिक सेहत पर भारी पड़ रहा है। नेत्र विशेषज्ञ एवं मेडिकल कॉलेज आरआईओ के निदेशक डॉ. असीम कुमार घोष ने कहा कि मोबाइल पर पढ़ाई करना आंखों के लिए बेहद नुकसानदेह है। एक घंटा पढ़ाई करने पर दो घंटे आंखों को आराम देना चाहिए। लगातार स्क्रीन पर देखने से आंखों की मांसपेशियां शुष्क हो सकती हैं। आंखों से पानी बहना शुरू हो सकता है और नजर कमजोर पड़ सकती है। इसके अलावा भी नेत्र संबंधी कई समस्याएं हो सकती हैं।

चाइल्ड न्यूरोलॉजिस्ट डॉक्टर दीप्तांशु दास ने कहा कि समस्या शारीरिक से ज्यादा मानसिक है क्योंकि आजकल तो छोटे बच्चे भी घंटों मोबाइल पर समय बिताते हैं। दरअसल ऑनलाइन पढ़ाई को लेकर अभिभावक ज्यादा विश्वासी नहीं हैं। ऑनलाइन क्लास को लेकर बच्चे भी ज्यादा गंभीर नहीं होते हैं। इसके कई कारण हैं। स्कूल में बच्चे सहपाठियों के साथ बैठकर पढ़ाई करते हैं। आपस में बातचीत करते हैं। खेलते-कूदते हैं और टिफिन शेयर करते हैं। ऑनलाइन क्लास में वे घर पर अकेले बैठकर पढ़ते हैं। इससे बोरियत पैदा हो रही है और उनमें चिड़चिड़ापन आ रहा है।