onwin giriş
Home उत्तराखंड राजनीति

टिहरी बांध झील के किनारे खांडखाला में पर्यटन विभाग की जमीन पर बने अवैध मस्जिद को आखिरकार अधिकारियों ने हटाया

टिहरी बांध झील के किनारे खांडखाला में पर्यटन विभाग की जमीन पर बने अवैध मस्जिद को आखिरकार अधिकारियों ने हटाया दिया। टीनशेड का ध्वस्तीकरण गुरुवार से शुरू हो गया। इस टीनशेड में धार्मिक गतिविधियां चलाई जा रही थी। खांडखाला में पर्यटन विभाग की जमीन पर अवैध रूप से टीनशेड बनाए गए थे। जिनमें धार्मिक गतिविधियों का संचालन किया जा रहा था।इस मामले में बीती 25 सितंबर को स्थानीय निवासियों और कुछ संगठनों ने खांडखाला में हंगामा किया था।प्रशासन ने किसी तरह से स्थानीय निवासियों को शांत किया था। मामले में विवाद बढ़ता देख धार्मिक गतिविधियों का संचालन कर रही समिति ने खुद ही टीनशेड हटाने की बात कही थी। जिसके बाद गुरुवार से धार्मिक गतिविधियों का संचालन कर रहे समिति के सदस्यों ने बांध सुरक्षा को देखते हुए टीनशेड को हटाना शुरू कर दिया है।

कुछ ही दिन में पूरी तरह से सारा निर्माण हटा दिया जाएगा। टिहरी बांध झील के किनारे खांडखाला में टिनशेड में लंबे समय से मस्जिद में धार्मिक गतिविधियां चल रही थी। करीब 30 साल पहले टिहरी बांध निर्माण के समय श्रमिकों को नमाज पढ़ने के लिए दोबाटा में जगह दी गई थी। वर्ष 2006 में झील बनने के बाद वह स्थान झील में डूब गया। इस पर कुछ श्रमिकों ने खांडखाला में टिनशेड बनाकर नमाज पढ़नी शुरू कर दी थी। टिहरी बांध की सुरक्षा को देखते हुए लंबे वक्‍त से इस टिनशेड को हटाने की मांग हो रही थी। पांच सितंबर को स्थानीय निवासियों ने खांडखाला में अवैध निर्माण हटाने की मांग को लेकर हंगामा किया था। छह सितंबर को प्रशासन की टीम मौके पर पहुंची थी और मामले की जांच की। इस जांच में टिनशेड में बनी मस्जिद अवैध निकली। इसके बाद पर्यटन विभाग ने इस टीनशेड को हटाने के लिए 15 दिन का समय दिया था। 25 सितंबर को स्थानीय लोगों ने इसको लेकर खांडखाला में फिर से हंगामा किया था। साथ ही खुद इसे तोड़ने का प्रयास किया। बाद में प्रशासन ने मामला शांत कराया था।

Similar Posts

© 2015 News Way· All Rights Reserved.