Home उत्तराखंड देश स्लाइड

नेपाल ने FM रेडियो के जरिए शुरू किया भारत के खिलाफ विरोधी दुष्प्रचार

Facebooktwittermailby feather

भारत के कालापानी, लिपुलेख और लिंपियाधुरा को नेपाली भूभाग बताने वाले अपने दावे को मजबूत करने के लिए नेपाल अब भारत के साथ लगती सीमा के पास अपने एफएम रेडियो चैनलों के जरिए भारत विरोधी दुष्प्रचार कर रहा है। सीमा के पास रह रहे भारतीय गांवों के निवासियों का कहना है कि नेपाली चैनलों द्वारा प्रसारित गीत आधारित या अन्य कार्यक्रमों के बीच में भारत के कालापानी, लिपुलेख और लिंपियाधुरा क्षेत्रों को वापस किये जाने की मांग करने वाले भारत-विरोधी भाषण दिए जा रहे हैं।

जिले के धारचूला सबडिवीजन के दांतू गांव की निवासी शालू दताल ने बताया, ‘‘कुछ नेपाली एफएम चैनलों ने हाल में नेपाली गीतों के बीच में भारत विरोधी भाषण चलाना शुरू किया है। चूंकि सीमा के दोनों तरफ के लोग नेपाली गाने सुनते हैं, इसलिए वे उनके बीच में प्रसारित किए जा रहे नेपाली नेताओं के भारत विरोधी भाषणों को भी सुनते हैं।’’

दताल ने बताया कि नेपाली गीतों के बीच में भारत विरोधी भाषणों का प्रसारण करने वाले प्रमुख चैनल नया नेपाल और कालापानी रेडियो हैं। उन्होंने कहा, “कुछ पुराने चैनल जैसे मल्लिकार्जुन रेडियो और वेबसाइटस जैसे अन्नपूर्णा डॉट आनलाइन भी कालापानी को नेपाली भूभाग बताते हुए खबरें दे रहे हैं। ये सभी एफएम चैनल नेपाल में दारचुला जिला मुख्यालय के पास चाबरीगर में स्थित हैं। इन एफएम चैनलों की रेंज तीन किलोमीटर तक की है, जो भारत में धारचूला, बलुआकोट, जौलजीबी और कालिका शहरों में सुने जा सकते हैं।”

Similar Posts

© 2015 News Way· All Rights Reserved.