onwin giris
Home उत्तराखंड राजनीति

त्रिशूल चोटी पर हिमस्खलन की चपेट में आने से लापता हुए नौसेना के पांच जवानों सहित छह की तलाश शुरू

त्रिशूल चोटी पर हिमस्खलन की चपेट में आने से लापता हुए नौसेना के पांच जवानों सहित छह की तलाश के लिए रेस्क्यू अभियान शनिवार की सुबह 7 बजे शुरू हो गया है। निम के प्रधानाचार्य कर्नल अमित बिष्ट ने कहा कि जोशिमठ और त्रिशूल चोटी के आसपास मौसम साफ़ है। रेस्क्यू अभियान शुरू हो गया। रेस्क्यू अभियान में निम उत्तरकाशी की सर्च एंड रेस्क्यू की टीम, हाई एल्टीट्यूड वारफेयर स्कूल, गुलमर्ग, गढ़वाल स्काउट्स से सेना की टीमें शामिल हैं।

पर्वतारोहण के लिए उत्तराखंड के माउंट त्रिशूल पर जा रहे नेवी के पांच जवान हिमस्खलन  की चपेट में आने के बाद से लापता हो गए। उनके साथ जा रहा एक पोर्टर (कुली) भी लापता है। चमोली जिले में आज सुबह हुए हादसे के बाद से जवानों समेत छह लोगों की तलाशी के लिए अभियान चलाया जा रहा है, लेकिन अभी तक उनका कोई सुराग नहीं जुटाया जा सका है।पर्वतारोहियों की खोज में उत्तरकाशी स्थित नेहरू पर्वतारोहण संस्थान (निम) का एक दल घटनास्थल के लिए रवाना हो गया है। दल का नेतृत्व संस्थान के प्रधानाचार्य कर्नल अमित बिष्ट कर रहे हैं। निम के अनुसार, भारतीय नौसेना की एडवेंचर विंग ने सुबह करीब 11 बजे राहत एवं बचाव के लिए निम के तलाश एवं बचाव दल से मदद मांगी। लापता पर्वतारोहियों की खोज के लिए सेना का बचाव दल भी घटनास्थल के लिए रवाना हो गया है। नौसेना का 20 सदस्यीय दल करीब 15 दिन पहले 7120 मीटर ऊंची त्रिशूल चोटी के आरोहण के लिए गया था।

Similar Posts

© 2015 News Way· All Rights Reserved.