onwin giris
Home उत्तराखंड राजनीति

छूट के साथ टैक्स जमा करने के दो अवसर देने के बाद भी नगर निगम प्रशासन वसूली में कुछ खास नहीं कर पाया

छूट के साथ टैक्स जमा करने के दो अवसर देने के बाद भी नगर निगम प्रशासन वसूली में कुछ खास नहीं कर पाया है। भवन कर और दुकान किराया मद में ही करीब पौने दो करोड़ रुपये बकाया है। भवन और स्वच्छता कर जमा कराने में 25 प्रतिशत की छूट के बाद भी 35 फीसद शहरवासियों का टैक्स जमा न कराना निगम प्रशासन की आर्थिक मुश्किलें बढ़ाने वाला हो सकता है। अभी भी करीब 1.75 करोड़ रुपये टैक्स वसूली होनी है।छूट के साथ अग्रिम दुकान किराया, भवन कर जमा कराने की समयसीमा 30 जून रहती है। बोर्ड बैठक के बाद इसे 31 अगस्त और फिर 30 सितंबर तक बढ़ा दिया गया। दो बार तिथि बढ़ाने के बाद भी भवन व स्वच्छता कर मद में 65 प्रतिशत वसूली हो पाई है। जबकि दोनों मदों को मिलाकर निगम प्रशासन 25 प्रतिशत की छूट प्रदान करता है। दुकान किराया मद में 70 फीसद के करीब वसूली हो पाई है।

छूट की अवधि समाप्त होने के बाद अब दुकान किराया जमा कराने पर पांच रुपये प्रतिदिन विलंब शुल्क देना होगा। शहर में निगम की 1183 दुकानें हैं।जियोग्रोफिकल इनफार्मेशन सिस्टम (जीआइएस) आधारित डिजिटल संपत्ति सर्वे कराने के लिए नगर निगम प्रशासन शुक्रवार से कवायद शुरू करेगा। अनुबंधित कंपनी वार्ड चार से इसकी शुरुआत करेगी। कर निरीक्षक पूजा चंद्रा ने बताया कि शुरुआत में परिवार व उसके मुखिया का ब्योरा मोबाइल एप पर लिया जाएगा। दूसरे चरण में ड्रोन से सर्वे किया जाएगा। नगर निगम हल्द्वानी के नगर आयुक्त पंकज उपाध्याय बताते हैं कि अवकाश की वजह से दो दिन कार्यालय बंद रहा। फिलहाल छूट की समयावधि समाप्त हो गई है। आगे को लेकर शुक्रवार को कोई फैसला लिया जाएगा।

Similar Posts

© 2015 News Way· All Rights Reserved.