onwin giris
Home उत्तराखंड राजनीति

एमबीबीएस की फीस कम करने की मांग को लेकर आंदोलित दून मेडिकल कालेज के छात्रों ने कैंडल मार्च निकाला

एमबीबीएस की फीस कम करने की मांग को लेकर आंदोलित दून मेडिकल कालेज के छात्रों ने मंगलवार को कैंडल मार्च निकाला। 2019 व 2020 बैच के ये छात्र पिछले चार दिन से आंदोलन पर हैं। वह कालेज परिसर में धरना-प्रदर्शन कर रहे हैं। उन्होंने फीस कम न होने तक आंदोलन जारी रखने की चेतावनी दी है। आंदोलित छात्रों ने बताया कि  उत्तराखंड में तीन सरकारी मेडिकल कालेजों में वर्ष 2018 तक बांड व्यवस्था थी, जिसके तहत छात्र रियायती दर पर पढ़ाई कर सकते थे। पर दो साल पहले दून और हल्द्वानी मेडिकल कालेज से बांड खत्म कर दिया गया।बांड व्यवस्था के तहत फीस 50 हजार रुपये सालाना थी। पर यह व्यवस्था खत्म होने से अब उन्हें तकरीबन 4.25 लाख रुपये सालाना देने पड़ रहे हैं। ऐसे में राज्य के मेधावी और सामान्य घरों के बच्चों के लिए डाक्टरी की पढ़ाई मुश्किल हो गई है।

कई छात्रों ने नीट पास करने के बाद सीट छोड़ दी है। उन्होंने कहा कि अन्य राज्यों के सरकारी मेडिकल कालेजों में अधिकतम फीस 1.25 लाख तक है। ऐसे में राज्य सरकार यहां भी जल्द फीस कम करे। अगर बांड की व्यवस्था फिर से शुरू हो जाए तो भी उन्हें बड़ी राहत मिलेगी।छात्रों ने कहा कि वह मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी, स्वास्थ्य मंत्री डा. धन सिंह रावत, आयुष मंत्री डा. हरक सिंह रावत, सैनिक कल्याण मंत्री गणेश जोशी व स्वास्थ्य सचिव अमित नेगी के समक्ष अपनी बात रख चुके हैं। आश्वासन सभी ने दिया, पर कार्रवाई के नाम पर कुछ नहीं हुआ है। उस पर कालेज ने उन्हें नोटिस जारी कर दिया है। यह ताकीद की सालाना फीस जमा न करने पर उन्हें कक्षाओं व परीक्षाओं में नहीं बैठने दिया जाएगा।

Similar Posts

© 2015 News Way· All Rights Reserved.