देश स्लाइड

24 अक्तूबर को होंगे जम्मू कश्मीर में स्थानीय चुनाव

Share and Enjoy !

जम्मू-कश्मीर के मुख्य चुनाव अधिकारी शैलेंद्र कुमार ने कहा है कि जम्मू-कश्मीर में ब्लॉक डेवलपमेन्ट काउन्सिल के लिए चुनाव 24 अक्तूबर को कराए जाएंगे.

इससे पहले नवंबर 2018 में जम्मू कश्मीर में पंचायत चुनाव करवाए गए थे. उस वक्त नेशनल कॉन्फ्रेंस और पीडीपी जैसी प्रमुख क्षेत्रीय पार्टियों ने इन चुनावों में हिस्सा लेने से इनकार कर दिया था.

इन चुनावों में 26,629 मतदाता होंगे, जिनमें 18,316 पुरुष हैं और 8,313 महिलाएं. 50 प्रतिशत से भी ज्यादा यानी कि 168 ब्लॉक कश्मीर घाटी के अंतर्गत आते हैं.

कुमार ने कहा कि राज्य प्रशासन ने निर्वाचन अधिकारियों को आश्वस्त किया है कि बीडीसी चुनाव शांतिपूर्ण तरीके से कराए जाएंगे और इसके लिए प्रशासन सुरक्षा मुहैया कराएगा. कुछ उम्मीदवारों को व्यक्तिगत सुरक्षा मुहैया कराए जाने संबंधित एक सवाल के जवाब में कुमार ने कहा कि यह राज्य के गृह विभाग को निर्णय लेना है.

राज्यभर के पंचायत सदस्य बीडीसी चुनाव के लिए मतदान करेंगे, जिसके जरिए ब्लॉक स्तर पर परिषदों का गठन होगा. विकास संबंधित सभी फंड विभिन्न राष्ट्रीय कार्यक्रमों के तहत राज्य में जमीनी विकास के लिए बीडीसी के जरिए खर्च किए जाएंगे.

अंग्रेजी अखबार इंडियन एक्सप्रेस की रिपोर्ट के मुताबिक, अक्टूबर 2018 में जम्मू-कश्मीर के पंचायत चुनावों में 23,629 पंच और 3,652 सरपंच चुने गए थे. हालांकि, आधिकारिक आंकड़े बताते हैं कि घाटी में 61 फीसदी पंच वार्ड खाली हैं. 18,833 वार्डों में से केवल केवल 7,596 में पंच चुने गए थे. इसी तरह 45 फीसदी वार्ड में सरपंच का पद खाली है. घाटी के 2,375 वार्डों में से 1,558 में सरपंच चुने गए.

चुने गए पंच-सरपंचों में ज्यादातर निर्विरोध जीते. घाटी में चुने गए 7,596 पंचों में से, 3,500 से अधिक ने निर्विरोध जीते थे. इसी तरह 530 से अधिक सरपंच निर्विरोध चुने गए थे. इन चुनावों का फारूक अब्दुल्ला की पार्टी नेशनल कॉन्फ्रेंस और महबूबा मुफ्ती की पार्टी पीडीपी ने विरोध किया था. तब इन नेताओं ने कहा था कि पहले केंद्र सरकार अनुच्छेद 370 पर स्थिति साफ करे.

Share and Enjoy !

Similar Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

© 2015 News Way· All Rights Reserved.