Latest:
Home उत्तराखंड राजनीति

एक महीने से ज्यादा समय से चल रही केमू बसों की हड़ताल अभी भी नहीं खुली; जाने पूरी खबर

एक महीने से ज्यादा समय से चल रही केमू बसों की हड़ताल अभी भी खुली नहीं है। हालांकि, संचालकों ने गाडिय़ां चलाने को लेकर नया फार्मूला तैयार किया है। उनका कहना है कि 75 प्रतिशत सवारियों को लेकर वह पहाड़ जाने के लिए तैयार हैं, लेकिन किराया डेढ़ गुना लिया जाएगा। यानी सामान्य दिनों में हल्द्वानी से अल्मोड़ा जाने के लिए 160 रुपये प्रति सीट लिए जाते थे। अब अगर 240 रुपये किराया फिक्स होगा तभी बसें चलाई जाएंगी। जल्द प्रस्ताव आरटीओ के माध्यम से शासन को भेजा जाएगा।

कोविड के बढ़ते मामलों की वजह से डेढ़ माह पूर्व शासन ने आदेश जारी किया था कि सार्वजनिक व निजी वाहनों में 50 प्रतिशत से ज्यादा सवारियां नहीं बिठाई जाएंगी। इसके बाद कुमाऊं के पर्वतीय इलाकों में चलने वाली 350 बसें खड़ी हो गई। केमू यूनियन का कहना था कि दोगुना किराया मिलने पर ही गाडिय़ों का संचालन होगा। वहीं, अब शासन ने सवारियों बिठाने को लेकर कुल सीट का 75 प्रतिशत कर दिया। उसके बावजूद केमू मालिक मानने को तैयार नहीं है। केमू अध्यक्ष सुरेश डसीला ने बताया कि अप्रैल से लेकर जून 25 तक सीजन होता है। इस दौरान शादियों का मूहर्त होने के साथ पर्यटक भी आते हैं। यह सीजन अब निकल गया। 15 जून के बाद बारिश की वजह से सवारियां कम होने के साथ गाडिय़ां चलाने में भी दिक्कत आएगी। इसलिए डेढ़ गुना किराये का आदेश होने पर ही बसें पहाड़ भेजी जाएंगी।

Similar Posts

© 2015 News Way· All Rights Reserved.