शपथ लेते केजरीवाल ने सुनाई कविता, कहा पीएम आशीर्वाद चाहता हूं’

Facebooktwittermailby feather

अरविंद केजरीवाल ने रविवार को रामलीला मैदान में दिल्ली के मुख्यमंत्री पद की शपथ ली. वह तीसरी बार दिल्ली के मुख्यमंत्री बने हैं. इसी  मौके पर उन्होंने एक कविता भी सुनाई.

अरविंद केजरीवाल ने तीसरी बार मुख्यमंत्री के तौर पर दिल्ली की कमान संभानी है. उन्होंने रविवार को रामलीला मैदान पर मुख्यमंत्री पद की शपथ ली. शपथ लेने के बाद उन्होंने दिल्लीवासियों को शुक्रिया कहा और बताया कैसे दिल्ली के हर एक शख्स की वजह से ये जीत संभव हो पाई है. केजरीवाल ने मंच ने मंच से एक कविता भी सुनाई.  

अरविंद केजरीवाल ने सुनाई ये कविता

जब भारत का मां का हर बच्चा

“अच्छी शिक्षा पाएगा

जब भारत के हर बंदे को

अच्छा इलाज मिल जाएगा

जब सुरक्षा और सम्मान

महिलाओं में आत्म विश्वास जगायेगा

हर नौजवान के माथे से

बेरोजगार का तमगा हट जाएगा

जब किसान का पसीना उसके

घर में भी खुशहाली लाएगा

जब हर भारतवासी

जीवन की मूलभूत सुविधा पाएगा

जब धर्म- जाति से उठकर

हर भारत वासी भारत को आगे बढ़ाएगा

तब ही अमर तिरंगा

आसमान में शान से लहराएगा “

अरविंद केजरीवाल ने ‘भारत माता की जय’, ‘वंदे मातरम’ के साथ अपने संबोधन की शुरुआत की. उन्होंने कहा कि ये उनकी नहीं, दिल्लीवालों की जीत है. वह वोट देने वाले, नहीं देने वाले दोनों का मुख्यमंत्री हैं. उन्होंने कहा, ‘मैं दिल्लीवालों के जिंदगी में खुशहाली लाने की कोशिश करूंगा.’ इसी के साथ उन्होंने अंत में ‘हम होंगे कामयाब, एक दिन’ गीत गाया.

‘पीएम का आशीर्वाद चाहता हूं’

केजरीवाल ने कहा- दिल्ली के विकास के लिए मैं देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का आशीर्वाद चाहता हूं.  हमारी सरकार केंद्र के साथ मिलकर काम करेंगे. आप किसी भी पार्टी या धर्म के हों, काम हो तो मेरे पास आ जाना. देश में दिल्ली से नई राजनीति की शुरुआत हुई है. दिल्ली के विकास के लिए प्रधानमंत्री का आशीर्वाद चाहता हूं. मैं सबके साथ मिलकर काम करना चाहता हूं.’