onwin giris
Home उत्तराखंड राजनीति

लाल बहादुर शास्त्री राष्ट्रीय प्रशासनिक अकादमी में 27वां ज्वाइंट सिविल-मिलिट्री प्रोग्राम शुरू

लाल बहादुर शास्त्री राष्ट्रीय प्रशासनिक अकादमी (एलबीएसएनएए) में सोमवार को 27वां ज्वाइंट सिविल-मिलिट्री (जेसीएम) प्रोग्राम शुरू हो गया। छह दिवसीय प्रोग्राम का उद्घाटन चीफ आफ डिफेंस स्टाफ (सीडीएस) जनरल बिपिन रावत ने किया। उन्होंने प्रोग्राम में देशभर से शामिल हुए सेना और अर्द्धसैनिक बलों, आइएएस, आइपीएस समेत विभिन्न अन्य अखिल भारतीय सेवा के 53 वरिष्ठ अधिकारियों को संबोधित करते हुए नेशन फस्र्ट (देश पहले) की सीख दी।सीडीएस जनरल बिपिन रावत ने कहा कि कारगिल युद्ध के बाद कारगिल सुरक्षा समिति में शामिल मंत्रियों के समूह (ग्रुप आफ मिनिस्टर्स) ने वर्ष 2001 में जेसीएम प्रोग्राम की संस्तुति की थी। इसका मकसद है कि सेना व अर्द्धसैनिक बलों के साथ ही तमाम सिविल सेवा के अधिकारी राष्ट्रीय सुरक्षा के मसले पर एकजुट हो सकें।

उनके बीच बेहतर समन्वय बन सके। उन्होंने कहा कि अगर हमारे सिविल सेवक भी सेना की तरह देश की सुरक्षा व उसकी चुनौतियों को अच्छी तरह समझेंगे तो देश की सुरक्षा अचूक बनी रहेगी।एलबीएस अकादमी के निदेशक श्रीनिवास आर कतिकिथाला ने कहा कि 11 सितंबर तक चलने वाले जेसीएम प्रोग्राम में सैन्य और सिविल अधिकारियों के बीच समन्वय को हर तरह से बेहतर बनाने का काम किया जाएगा। उन्होंने बताया कि शार्ट टर्म ट्रेनिंग के रूप में तमाम विषय विशेषज्ञ जेसीएम में प्रतिभागी अधिकारियों को संबोधित करेंगे।

Similar Posts

© 2015 News Way· All Rights Reserved.