पिथौरागढ़ जिले में तेंदुए के हमले से मासूम मौत,घर से कुछ दूरी पर मिला क्षत-विक्षत शव

Facebooktwittermailby feather

उत्तराखंड के पिथौरागढ़ में विकासखंड बेड़ीनाग के भट्टी गांव में तेंदुए ने एक 6 साल की बच्ची को अपना निवाला बना दिया है। वही इसके बाद आक्रोशित ग्रामीणों ने वन विभाग के खिलाफ विभागीय कार्यालय में प्रदर्शन कर तेंदुए को आदमखोर घोषित करने की मांग की।
पिथौरागढ़ जिले में तेंदुए के हमले से यह तीसरी मौत है। सितंबर में तेंदुए ने सुकौली में युवक को मार डाला था। इसके बाद छाना पांडे में मां के साथ घास काटकर लौट रही बालिका (11) तेंदुए का शिकार बनी थी। बता दें कि अल्मोड़ा के भिकियासैंण क्षेत्र में मंगलवार को आदमखोर तेंदुए को शिकारी ने ढेर किया था।
बुधवार देर शाम भट्टीगांव के कन्नागैर में घर के बाहर खेल रही भगत राम की 6 वर्षीय बेटी हिमानी पर हमला कर दिया। पिता ने हो-हल्ला कर तेंदुए को भगाने की कोशिश की लेकिन तेंदुआ मासूम को दबोच कर पास की झाड़ियों ले गया। इस बीच, ग्रामीण भी मौके पर पहुंच गए। उन्होंने बच्ची को ढूंढा। घर से लगभग 100 मीटर दूर बच्ची का शव बरामद हुआ। सूचना मिलने पर पुलिस भी मौके पर पहुचीं
वही वन सरपंच कैलाश चन्याल के नेतृत्व आक्रोशित ग्रामीणों  ने वन विभाग कार्यालय में प्रदर्शन किया। उन्होंने कहा कि पूर्व में वन विभाग से क्षेत्र में पिंजरा लगाने की मांग की गई थी लेकिन विभाग ने उनकी मांग की अनेदखी की। पिंजरा लगाना तो दूर विभाग ने गश्त तक नहीं लगाई। अगर पिंजरा लगाया होता तो यह हादसा नहीं होता। उन्होंने कहा कि शीघ्र तेंदुए को आदमखोर घोषित कर उसे मारा जाए।