चीनी ऐप को प्रतिबंध करने से भारत ने विश्व व्यापार संगठन (डब्ल्यूटीओ) नियमों का उल्लंघन किया है: चीन

Facebooktwittermailby feather

भारत के 118 चीनी ऐप पर प्रतिबंध लगाने पर चीन ने गुरुवार को कहा कि इससे ना तो भारतीय उपयोक्ताओं और ना ही चीनी कंपनियों को लाभ होगा। चीन ने दावा किया कि यह कदम विश्व व्यापार संगठन (डब्ल्यूटीओ) नियमों का उल्लंघन है। भारत ने बुधवार को लोकप्रिय खेल ऐप ‘पबजी’ समेत चीन से संबंध रखने वाली 118 और मोबाइल ऐप पर प्रतिबंध लगा दिया। इसकी वजह राष्ट्रीय सुरक्षा को खतरा और डेटा निजता से जुड़ी चिंताए बतायी गयी। भारत अब तक चीन की कुल 224 ऐप पर प्रतिबंधित कर चुका है। ताजा कदम पूर्वी लद्दाख में चीन के साथ फिर से तनाव बढ़ने के बाद उठाया गया है।

वाणिज्य मंत्रालय के संवाददाता सम्मेलन में चीनी ऐप पर भारत के नए प्रतिबंधों से जुड़े सवाल के जवाब में प्रवक्ता गाओ फेंग ने कहा, ‘भारत सरकार ने ‘राष्ट्रीय सुरक्षा’ की अवधारणा का दुरुपयोग किया और चीनी कंपनियों के खिलाफ भेदभावपूर्ण प्रतिबंध उपायों को अपनाया। यह विश्व व्यापार संगठन के नियमों का उल्लंघन है और उसकी प्रासंगिकता को कम करता है। चीन भारत से उसकी गलत प्रक्रियाओं को सुधारने का आग्रह करता है।’

चीन के विदेश मंत्रालय के अलग से संवाददाता सम्मेलन में प्रवक्ता हुआ चुनयिंग ने कहा कि भारत के इस कदम ने पहले भारतीय उपयोक्ताओं के हित और अधिकार को नुकसान पहुंचाया। इससे चीनी कारोबार के अधिकार और हितों को भी नुकसान हुआ है। ऐसे में भारत ने जो किया है वह किसी के लिए भी फायदेमंद नहीं है। उन्होंने कहा कि अमेरिका के विदेश मंत्रालय ने उसी दिन भारत के चीनी ऐप पर प्रतिबंध का उदाहरण देते हुए अन्य देशों से भी उसका अनुसरण करने को कहा। ‘इसलिए मुझे नहीं पता कि क्या इसे लेकर भारत और अमेरिका के बीच कोई बातचीत हुई है और इसमें कोई संबंध है।’’