Home उत्तराखंड राजनीति

2016 में कांग्रेस का मटका फोड़ने वाली भाजपा में अब ढैंचा-ढैंचा हो रहा है; पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत

पूर्व मुख्यमंत्री व प्रदेश कांग्रेस चुनाव अभियान समिति के अध्यक्ष हरीश रावत ने प्रदेश में भाजपा की अंतर्कलह को लेकर चुटकी ली। उन्होंने कहा कि 2016 में कांग्रेस का मटका फोड़ने वाली भाजपा में अब ढैंचा-ढैंचा हो रहा है। रावत ने दलबदल व कांग्रेस में तोड़-फोड़ के लिए भाजपा के वरिष्ठ नेता और राज्यसभा सदस्य अनिल बलूनी को कठघरे में खड़ा किया।प्रदेश में पूर्व मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत और कैबिनेट मंत्री डा हरक सिंह रावत के बीच चल रही जुबानी जंग पर पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत ने ट्वीट किया। उन्होंने कहा, ‘जैसी करनी वैसी भरनी।’ रावत ने गुरुवार को राज्यसभा सदस्य अनिल बलूनी पर भी दलबदल को लेकर तीखा हमला बोला। उन्होंने कहा कि चढ़ती उम्र के व्यक्ति की इच्छा है कि राज्य को स्वच्छ व स्वस्थ लोकतांत्रिक स्वरूप देने वाले नौजवान उभरें। बलूनी का नाम लिए बगैर उन्होंने कहा कि दिल्ली स्थित नौजवान ने कुछ अच्छी बातें कहीं तो उन्होंने दलीय सीमा लांघकर सराहना की। दलबदल को लेकर उनके ट्वीट देखकर पता चला कि यह नौजवान भाजपा रूपी मां के पेट से खुरापात सीख कर आया है।रावत ने आरोप लगाया कि भाजपा ने राज्य आंदोलन से जुड़ी उक्रांद का विधानसभा में वंश खत्म कर दिया। नसीहत के अंदाज में उन्होंने कहा कि भाजपा में मचे घमासान के बाद भी पार्टी अपने कार्यकर्त्‍ता की भावना जान नहीं सकी है। भाजपा नेता गलत को गलत कहने का साहस भी दिखाएं।

पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत ने प्रदेश सरकार के रोजगार संबंधी विज्ञापन को झूठ करार दिया है। उन्होंने कहा कि 2017 ब्रांड के पहले मुख्यमंत्री ने दावा किया था कि साढ़े सात लाख रोजगार दिए गए हैं। दूसरे मुख्यमंत्री ने झेंपते हुए 24 हजार भर्तियां करने की बात कही। तीसरे मुख्यमंत्री ने 22 हजार सरकारी भर्तियों का लक्ष्य रखा है। लक्ष्य पूर्ति का कोई वर्ष, तिथि नहीं है। नौकरियां मिलने के रास्ते भी बताए नहीं गए हैं। केंद्र सरकार सरकारी विभागों में रिक्त एक करोड़ से ज्यादा पदों और राज्य सरकार 22 हजार से ज्यादा पदों पर पालथी मारकर बैठी है।प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष गणेश गोदियाल ने भी दलबदल को लेकर भाजपा पर हमला बोला। उन्होंने कहा कि साढ़े चार साल में भाजपा सरकार ने विकास किया होता तो उसे दूसरे दलों के नेताओं को तोड़ने की जरूरत नहीं होती। कांग्रेस पर गुटबाजी व खेमेबाजी का आरोप लगाने वाली भाजपा का पर्दाफाश हो चुका है। अब सत्तारूढ़ दल आंतरिक झगड़े का शिकार है। बड़े नेता ही जिस तरह वाद-विवाद कर रहे हैं, उससे पता चल चुका है कि इसी वजह से प्रदेश का विकास नहीं हो सका।गोदियाल ने भाजपा के सदस्यता अभियान पर प्रहार किया। उन्होंने कहा कि मिस्ड काल से सदस्य बनाने वाले दल ने इस काम में भी फर्जीवाड़ा किया है। कांग्रेस यथार्थ में सदस्य बनाने में यकीन करती है। उन्होंने कहा कि अक्टूबर माह के आखिर में कांग्रेस के प्रदेश में सदस्यता अभियान की समीक्षा की जाएगी। उन्होंने कहा कि शुक्रवार को प्रदेश प्रभारी देवेंद्र यादव व पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत पार्टी मुख्यालय में युवक कांग्रेस के बेरोजगारी पंजीकरण कार्यक्रम की शुरुआत करेंगे।

Similar Posts

© 2015 News Way· All Rights Reserved.