onwin giris
Home उत्तराखंड राजनीति

उत्तराखंड विधानसभा चुनाव की आपाधापी से निबटने के बाद राजनीतिक दलों में आरोप-प्रत्यारोप का दौर फिर से शुरू

उत्तराखंड विधानसभा चुनाव की आपाधापी से निबटने के बाद राजनीतिक दलों में आरोप-प्रत्यारोप का दौर फिर से शुरू हो गया है। इस कड़ी में कैबिनेट मंत्री सुबोध उनियाल ने पूर्व मुख्यमंत्री एवं कांग्रेस के चुनाव अभियान समिति के अध्यक्ष रहे हरीश रावत पर निशाना साधा। उन्होंने कहा कि रावत बिल्ली की सोच वाली राजनीति करते हैं। उनका एकला चलो का सिद्धांत ही उनके आड़े आ रहा है। हरदा के मुख्यमंत्री बनने या फिर घर बैठने संबंधी बयान पर तंज कसते हुए उन्होंने कहा कि न नौ मन तेल होगा और न राधा नाचेगी।

कैबिनेट मंत्री उनियाल ने शुक्रवार को मीडिया से बातचीत में पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत पर जुबानी हमला बोला। उन्होंने कहा कि रावत सुबह कुछ बोलते हैं और शाम को कुछ और। झूठ का बड़ा भंडार उनके चरित्र में है। वह यहीं नहीं रुके और कहा कि हरदा का बिल्ली वाला चरित्र है। बिल्ली की सोच रहती है कि घर में कोई रहे न रहे, वह रहे। इसी चरित्र की राजनीति हरदा करते हैं।

एक प्रश्न पर उन्होंने कहा कि पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत पहले लालकुआं से चुनाव जीतकर तो दिखाएं, बाकी बातें तो बाद की हैं। उनियाल ने कहा कि वह तो पिछले दो-तीन साल से हरदा को राजनीति से संन्यास लेने की सलाह देते आ रहे हैं। ईश्वर ने रावत को सद्बुद्धि दे दी है कि अब उन्हें घर बैठ जाना चाहिए। उन्होंने यह भी दावा किया कि विधानसभा चुनाव में जनता ने भाजपा की नीति और राज्य में हुए विकास कार्यों पर मुहर लगाई है। 10 मार्च को चुनाव परिणाम से यह साफ हो जाएगा कि भाजपा एक बार फिर अच्छे बहुमत के साथ सरकार बनाने जा रही है।

Similar Posts

© 2015 News Way· All Rights Reserved.