onwin giriş
Home उत्तराखंड राजनीति

मुख्यमंत्री धामी ने कहा कि सरकार 10 साल के विकास का रोड मैप तैयार कर रही

मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने कहा कि सरकार 10 साल के विकास का रोड मैप तैयार कर रही है। 2017 से पहले प्रदेश में हजारों घोषणाएं होती थी, लेकिन सैकड़ों भी पूरी नहीं होती थी। उन्होंने इस संस्कृति को बदला है। सरकार वहीं घोषणाएं करेगी जो पूरी होगी, उनका ही शासनादेश जारी होगा। जिन योजनाओं का शिलान्यास किया गया है, उनका लोकार्पण भी किया जा रहा है। कार्य संस्कृति में बदलाव किया गया है। वह स्वयं दफ्तरों के औचक निरीक्षण कर रहे हैं। ऊपर से नीचे तक के अधिकारियों की जवाबदेही तय कर दी गई है। 12 बजे तक दफ्तर में बैठकर समस्या सुननी होगी। मुख्यमंत्री ने रुड़की के नेहरू स्टेडियम में 70 करोड़ की विभिन्न विकास परियोजनाओं के शिलान्यास व लोकार्पण कार्यक्रम में यह बात कही।सीएम पुष्कर सिंह धामी ने कहा कि रुड़की से उनको विशेष स्नेह रहा है। यहां बीईजी का मुख्यालय होने के अलावा आइआइटी और अन्य संस्थान हैं। उन्होंने कहा कि एक समय रुड़की की पहचान जाम वाले शहर के रूप में थी, लेकिन आज रुड़की के आसपास राजमार्ग के चौड़ीकरण के अलावा तमाम बाइपास बन गए हैं। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के हाथों में देश सुरक्षित है।

पर्यटन, स्वास्थ्य, परिवहन और आजीविका के क्षेत्र में राज्य सरकार ने करोड़ों की राहत राशि दी है। उन्होंने कहा कि चारधाम यात्रा शुरू न हो पाने से लाखों परिवारों की आजीविका प्रभावित हुई है। इसको जल्द शुरू कराने का प्रयास किया जाएगा। इसके लिए सरकार हाईकोर्ट में महत्वपूर्ण तथ्य और दस्तावेज पेश करेगी। इस मौके पर कैबिनेट मंत्री डा. धन सिंह रावत, स्वामी यतीश्वरानंद, प्रदेश अध्यक्ष मदन कौशिक, राज्यसभा सदस्य नरेश बंसल, विधायक प्रदीप बत्रा, देशराज कर्णवाल, संजय गुप्ता, महापौर गौरव गोयल, पूर्व विधायक चंद्रशेखर, जिलाध्यक्ष डॉ. जयपाल सिंह, मंडल अध्यक्ष अभिषेक चंद्रा, प्रवीण सिंधु, अंकित कपूर, डीसीबी चेयरमैन प्रदीप चौधरी मौजूद रहे। कार्यक्रम का संचालन आदेश सैनी और नवीन गुलाटी ने किया।सभा के दौरान मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने वरिष्ठ नेताओं पर भी निशाना साधा। उन्होंने कहा कि जब उन्होंने घोषणा की थी कि प्रदेश में रिक्त 24 हजार पदों पर भर्ती होगी तो वरिष्ठ नेताओं ने कहा कि यह कैसे होगा। जिस पर उन्होंने कहा था कि यदि उन्होंने भी अपने समय में सख्ती दिखाई होती तो यह काम उनको न करने की जरूरत पड़ती। उन्होंने कहा कि 15 अगस्त से भर्ती प्रक्रिया शुरू हो चुकी है। तीन माह में 12 हजार पद भर दिए जाएंगे। शेष पदों की भर्ती प्रक्रिया भी जारी है।

सीएम के कार्यक्रम के दौरान मंच से लेकर पंडाल तक में अव्यवस्था हावी रही। मंच का संचालन कर रहे जिला महामंत्री आदेश सैनी बार-बार मंच से चेतावनी देते रहे कि अनुशासनहीनता को बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। स्थिति यह रही कि कई बार तो पुलिस अधिकारियों को हस्तक्षेप करना पड़ा। मंच पर जबरन चढ़ने की कोशिश कर रहे कई नेताओं को तो एसपी देहात ने मंच से नीचे उतारा। वहीं, कई कार्यकर्त्ताओं के जब जिला महामंत्री ने नाम लेकर नीचे जाने को कहा तो वह भड़क उठे। मंच पर बार-बार आ रहे व्यक्तियों को रोकने के लिए खुद प्रदेश अध्यक्ष मदन कौशिक को तल्ख टिप्पणी करनी पड़ी।पूर्व विधायक सुरेशचंद जैन के यहां पर मुख्यमंत्री थोड़ी देर के लिए रुके। नेहरू स्टेडियम से कार्यक्रम समाप्त होने के बाद सीएम पहले तो विधायक देशराज कर्णवाल के यहां पर पहुंचे। इसके बाद विधायक प्रदीप बत्रा के यहां पर भोजन किया और फिर विधायक कुंवर प्रणव सिंह चैंपियन के आवास पर पहुंचे, जबकि सरकारी कार्यक्रम में केवल विधायक प्रदीप बत्रा के आवास पर रुकने की बात थी।

Similar Posts

© 2015 News Way· All Rights Reserved.