जीबी पंत विवि की प्रवेश परीक्षा निरस्त कर दी गईं ,मेरिट के आधार पर होंगे एडमीसन

Facebooktwittermailby feather

गोविंद बल्लभ पंत कृषि एवं प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय में पहली बार स्नातक और परास्नातक पाठ्यक्रमों की प्रवेश परीक्षा निरस्त करने की तैयारी है। इस बार विवि में दाखिले सिर्फ मेरिट के आधार पर किये जायेंगे।

वहीं, विवि की वार्षिक परीक्षाएं भी जुलाई अंत में ऑनलाइन कराने की तैयारी है। विवि की प्रवेश समिति ने कुलपति के अनुमोदन के बाद यह प्रस्ताव बना लिया है। 15 जून को विवि की वार्षिक परिषद में इस पर अंतिम मुहर लगेगी।

जिला प्रशासन की ओर से विवि के कई छात्रावासों को क्वारंटाइन सेंटर बनाया गया है। इसके अलावा परिसर के विश्वेश्वरैया भवन को भी 200 बेड का कोविड केयर सेंटर बनाने की तैयारी चल रही है। इसके चलते विवि में शिक्षण कार्य फिलहाल शुरू होने की उम्मीद नजर नहीं आ रही है। 

कुलपति डॉ. तेजप्रताप ने बताया कि विवि के छात्रावास जब भी खाली होंगे, उन्हें सेनेटाइज और रंगरोगन करवाने में कम से कम दो महीने का समय लगेगा।  ऐसे हालात में विवि न तो वार्षिक परीक्षाएं करवा सकता है, न ही प्रवेश परीक्षा।

कुलपति ने बताया कि छात्रों के स्वास्थ्य को ध्यान में रखते हुये यह फैसला किया गया है कि इस सत्र में छात्रों को विवि नहीं बुलाया जायेगा। इसके बजाय उनकी वार्षिक परीक्षाएं ऑनलाइन ही करायी जायेंगी।

इसके लिए प्राध्यापकों व छात्रों को तैयारी करने के निर्देश दे दिए गए हैं। बताय कि प्रवेश परीक्षा भी आयोजित नहीं होगी। इसके बजाय अंतिम तिथि तक प्राप्त होने वाले आवेदनों से मेरिट तैयार की जायेगी। बताया कि स्नातक पाठ्यक्रमों के लिये इंटर के अंक और परास्नातक के लिये स्नातक कक्षाओं के अंक आधार बनेंगे।


चार बार बढ़ानी पड़ी आवेदन की तारीख
कुलसचिव डॉ. जे कुमार ने बताया कि कोरोना वायरस के चलते लागू लॉकडाउन में प्रवेश परीक्षा फार्म ऑनलाइन जमा करने की तारीख 10 अप्रैल और ऑफलाइन की 15 अप्रैल निर्धारित की गयी थी।

बताया कि लॉकडाउन के बाद इन तारीखों को बढ़ाकर 30 अप्रैल व 10 मई, फिर 25 मई व 31 मई और फिर 15 जून व 25 जून करना पड़ा। वहीं, प्रवेश संयोजक डॉ. विनोद कुमार ने बताया कि लॉकडाउन के कारण अब तक दस हजार ही आवेदन आये हैं, जबकि बीते वर्षों तक 16 हजार तक आवेदन आते थे। 

प्रवेश परीक्षा के बजाय मेरिट पर दाखिले देने की तैयारी है। इसके अलावा वार्षिक परीक्षाएं भी ऑनलाइन ही आयोजित करायेंगे। इसके प्रस्ताव तैयार कर लिये गये हैं। 15 जून को वार्षिक परिषद की बैठक में ये प्रस्ताव रखे जायेंगे। इसके बाद आगे की कार्रवाई होगी।
डॉ. तेजप्रताप, कुलपति, जीबी पंत विवि