अंकित शर्मा हत्याकांड में पूर्व आप पार्षद ताहिर हुसैन पर कसा शिकंजा

Facebooktwittermailby feather

दिल्ली दंगों के दौरान कुख्यात चेहरे के रूप में सामने आए पूर्व आप पार्षद ताहिर हुसैन पर पुलिस का शिकंजा कसता नजर आ रहा है। दिल्ली पुलिस ने आज दिल्ली दंगों से जुड़ी एक और चार्जशीट दाखिल की है। दिल्ली पुलिस क्राइम ब्रांच ने दिल्ली दंगों के दौरान इंटेलिजेंस ब्यूरो (IB) के कर्मी अंकित शर्मा की हत्या के मामले में मेट्रोपॉलिटन मजिस्ट्रेट (कड़कड़डूमा कोर्ट) में चार्जशीट दायर की। कोर्ट ने विचार के लिए 16 जून की तारीख तय की है।

चार्जशीट में साफ तौर पर कहा गया है कि ताहिर हुसैन ने खास तौर पर आईबी अधिकारी अंकित शर्मा को निशाना बनाया। पुलिस ने चार्जशीट में कहा है कि ताहिर हुसैन ने जानबूझ कर दंगों को सांप्रदायिक रूप दिया। ताहिर ने 24 और 25 फरवरी को अपने घर और चांदबाग पुलिया पास की मस्जिद से लोगों को दंगे भड़काने के लिए उकसाया। साथ ही दंगों को सांप्रदायिक रूप दिया। 

बता दें कि कल ही दिल्ली दंगों में शामिल आम आदमी पार्टी के पार्षद ताहिर हुसैन और पिंजरा तोड़ ग्रुप की 2 महिला सदस्यों के खिलाफ आज दिल्ली पुलिस की क्राइम ब्रांच ने कड़कड़डूमा कोर्ट में चार्जशीट दाखिल की। इन दोनों चार्जशीट में साफ-साफ लिखा है कि कैसे दिल्ली में सत्ताधारी पार्टी के पार्षद (जिसे बाद में।पार्टी ने निष्काषित कर दिया था) और पिंजरा तोड़ ग्रुप की महिला सदस्यों नताशा नरवाल और देवांगना कलिता ने दंगों की चिंगारी को भड़काया। चार्जशीट में कहा गया है कि पिंजरा तोड़ ग्रुप की इन दोनों महिला सदस्यों के देशद्रोह के आरोपी उमर खालिद से भी करीबी रिश्ते हैं। 25 फरवरी 2020 को उत्तर-पूर्वी दिल्ली के जफराबाद दंगों में हुई फायरिंग में अमन नाम के एक शख्स की मौत हुई थी, मौके से पुलिस को अलग-अलग बोर के 35 कारतूस बरामद हुए थे। इस मामले में पिजरातोड़ ग्रुप की सदस्य नताशा नरवाल और देवांगना कलिता समेत 12 लोगों को गिरफ्तार किया गया था। जांच में दंगों के पीछे की गहरी साजिश का जिक्र भी चार्जशीट में किया गया है।