Home उत्तराखंड स्लाइड

उत्तराखंड में लव मैरिज के बाद बेटी-दामाद की हत्या कर पिता और भाई बोले- मौत ही उनके लिए सही सजा थी

Facebooktwittermailby feather

उत्तराखंड के काशीपुर में बेटी-दामाद की हत्या के आरोपियों को वारदात का कोई मलाल नहीं है। कहा कि बेटी ने खानदान को कलंकित किया था। मौत ही इनके लिए सही सजा थी। पुलिस ने आरोपियों की निशानदेही पर हत्या में प्रयुक्त दो तमंचे और तीन खोखे बरामद कर लिए हैं।

अल्ली खां के नईम सिद्दीकी ने रिपोर्ट दर्ज कराई थी कि पड़ोस में रहने वाले मुजम्मिल, उसके पुत्र मोहसिन, अफसर अली और जौहर अली ने 7 सितंबर की रात करीब साढ़े आठ बजे उसके भाई राशिद (22) और उसकी पत्नी नाजिया (19) की हत्या कर दी। बृहस्पतिवार को एएसपी राजेश भट्ट ने वारदात का खुलासा किया। बताया कि पुलिस ने बुधवार शाम लोहिया पुल के पास से मुजम्मिल और उसके पुत्र मोहसिन को गिरफ्तार कर लिया। उनकी निशानदेही पर 315 बोर के दो तमंचे और तीन खोखे बरामद किए हैं।

नाजिया के घर से भागने के बाद ही मुजम्मिल ने दोनों को खत्म करने की बात मन में ठान ली थी। तीन माह पूर्व उन्होंने जसपुर निवासी गुच्छन खां से दो तमंचे और आठ कारतूस खरीदे थे। बदनामी के कारण मुजम्मिल ने काशीपुर छोड़ने का मन बना लिया था। उसने अपनी पत्नी को दूसरी बेटी के घर भेज दिया था। अपनी गाड़ी के पंजीकरण दस्तावेज भी उसने एआरटीओ कार्यालय में सरेंडर कर दिए थे।

Similar Posts

© 2015 News Way· All Rights Reserved.