Home उत्तराखंड मेडिकल स्लाइड

भिकियासैंण के आदमखोर तेंदुए का अंत, पिछले दिनों एक बच्ची को बनाया था अपना निवाला

अल्मोड़ा जिले के भिकियासेंंण में आतंक का पर्याय बने एक आदमखोर तेंदुए को शिकारी लखपत सिंह रावत और बिजनौर से आए शिकारी अली आदान ने ढेर कर दिया है। लखपत रावत का यह 55 वांं शिकार था जबकि अली अदान का पहला। इस इलाके में इस आदमखोर तेंदुए ने एक बच्ची को अपना निवाला बनाया था, उसके बाद तेंदुए ने एक दूसरी बच्ची पर हमला किया था, जो भाग्यशाली थी और बच गई।

वन विभाग के अधिकारियों ने बताया कि सोमवार शाम को तेंदुआ उसी जगह पर आया था जहां पर उसने बच्ची को अपना शिकार बनाया था। तेंदुए को देखते ही शिकारी लखपत रावत और अली अदान ने तेंदुए को गोली मार दी, जिसके बाद तेंदुआ घायल होकर जंगल की ओर चला गया।आज मंगलवार सवेरे वन विभाग की टीम और शिकारियों ने इलाके में सर्च अभियान चलाया तो झाड़ियों के बीच में तेंदुए का शव पाया गया। शव को वन विभाग ने अग्रिम कार्रवाई के लिए अपने कब्जे में ले लिया है, वहीं आदमखोर तेंदुए के ढेर होने से इलाके के लोगों ने राहत की सांस ली है।

 

Similar Posts

© 2015 News Way· All Rights Reserved.