onwin giriş
Home उत्तराखंड राजनीति

जिलाधिकारी देहरादून डॉ. आर राजेश कुमार ने गढ़वाली बोली में वोटरों से मतदान की अपील की

देहरादून के जिला निर्वाचन अधिकारी/जिलाधिकारी  (डीएम) डॉ. आर राजेश कुमार का एक वीडियो संदेश इंटरनेट मीडिया में खूब वायरल हो रहा है। इस वीडियो संदेश में वह गढ़वाली बोली में वोटरों से मतदान की अपील कर रहे हैं। वह कह रहे है कि ‘लोकतंत्र की मजबूती का वास्ता बहुत जरूरी छै कि हम सब लोग वोट डालना कु खातिर जरूर जाला….’।जिलाधिकारी (डीएम) डॉ. आर राजेश कुमार का यह वीडियो संदेश जिला प्रशासन ने बुधवार को जारी किया। गढ़वाली बोली में जारी किया गया यह वीडियो संदेश हर किसी के मोबाइल में खूब बज रहा है। जिसमें जिलाधिकारी गढ़वाली बोली में मतदाताओं से वोट डालने की अपील कर रहे हैं। 45 सेकेंड के इस वीडियो में जिलाधिकारी कह रहे हैं कि वर्ष 2022 में विधानसभा चुनाव होने हैं। मजबूत लोकतंत्र की खातिर सभी मतदाताओं को मतदान करना जरूरी है। इसलिए सभी से अपील है कि घर से निकलकर वोट डालने जरूर जाएंगे। साथ ही जिलाधिकारी ने यह भी अपेक्षा की कि देहरादून के मतदाता जिले को मतदान में पहले स्थान पर पहुंचाएंगे।

जिलाधिकारी के संदेश वाले वीडियो को जिला प्रशासन के फेसबुक पेज पर भी अपलोड किया गया और विभिन्न कार्यालयों के ग्रुप में भी इसका प्रसार किया जा रहा है। तमाम कार्मिक वीडियो को अपने परिचितों को भी भेज रहे हैं। जिलाधिकारी का वीडियो इंटरनेट मीडिया पर खूब प्रसारित हो रहा है और गढ़वाली भाषा में दिए गए संदेश को लोग काफी पसंद कर रहे हैं।स्वामी राम हिमालयन विश्वविद्यालय (एसआरएचयू) जौलीग्रांट में क्रिसमस व नए वर्ष के उपलक्ष्य में केक मिक्सिंग सेरेमनी आयोजित की गई। इस अवसर पर विश्वविद्यालय की छात्र-छात्राओं ने उत्तराखंड के पारंपरिक भोजन को परोसा। केक मिक्सिंग सेरेमनी में पहाड़ी मेन्यू में तूर दाल, फाणु का साग, मंडवे की रोटी, हरी सब्जी, झंगोरा की खीर शामिल थी। कार्यक्रम में होमस्टे के लिए उत्तराखंड के पारंपरिक व्यंजनों पर मेन्यू को कुलपति डा. विजय धस्माना और लर्नेट स्किल्स सहायक वाइस प्रेसिडेंट रमेश पेटवाल संयुक्त रूप से विमोचन किया गया। कुलपति डा.विजय धस्माना ने कहा कि हमारा फोकस ऐसे कोर्स शुरू करने पर है जिनके माध्यम से युवा नौकरी की बजाय खुद का व्यवसाय कर आत्मनिर्भर बनकर समाज के लिए प्रेरणास्रोत बन सकते हैं। इस अवसर पर एसआरएचयू के प्रति कुलपति डा. विजेंद्र चौहान, रजिस्ट्रार डा. सुशीला शर्मा, डा.प्रकाश केशवया, डा.रेनू धस्माना, डा. मुकेश बिजल्वाण, सहायक उपाध्यक्ष लर्नेट स्किल्स रमेश पेटवाल, केंद्र प्रबंधक संजीव बिंजोला, शेफ अक्षय थपलियाल, प्रबंधक गुरदीप सिंह, समन्वयक प्राची आदि उपस्थित थे।

Similar Posts

© 2015 News Way· All Rights Reserved.