उत्तराखंड में घातक हो रहा वायरस,अस्पतालों में गंभीर मरीज भर्ती, मृत्यु दर भी बढ़ी

Facebooktwittermailby feather

राज्य में पिछले पंद्रह दिनों से कोरोना वायरस लगातार घातक होता जा रहा है। अस्पतालों में भर्ती हो रहे मरीजों में वायरस के सभी लक्षण दिखाई देने लगे हैं और मरीजों की स्थिति गंभीर हो रही है। यही नहीं राज्य में कोरोना संक्रमित मरीजों की मौत के आंकड़े भी लगातार बढ़ रहे हैं।

राज्य में कोरोना मरीजों के मिलने का सिलसिला 15 मार्च को शुरु हुआ था और जब से अभी तक 7800 मरीज मिल चुके हैं। लेकिन मार्च से लेकर 15 जुलाई तक मिले मरीज सामान्य किस्म के थे और इनमें से 85 प्रतिशत के करीब मरीजों में कोरोना वायरस के या तो लक्षण नहीं थे।

कुछ मरीजों में लक्षण दिखाई भी दे रहे थे तो सिर्फ एक या दो ही लक्षण दिखाई दे रहे थे। गंभीर मरीजों का प्रतिशत से तीन से चार तक ही था। लेकिन पिछले 15 दिनों से राज्य में मिल रहे कोरोना मरीजों की स्थिति में बदलाव दिखाई दे रहा है। अस्पतालों में इलाज के लिए लाए जा रहे अधिकांश कोरोना मरीजों में अब सभी प्रमुख लक्षण दिखाई दे रहे हैं और मरीजों की स्थिति भी गंभीर हो रही है।

कोरोना मरीजों की स्थिति में कुछ बदलाव नजर आ रहा है। पहले अस्पतालों में आने वाले अधिकांश मरीज बिना लक्षण वाले होते थे। लेकिन अब धीरे धीरे गंभीर लक्षण वाले मरीजों की संख्या बढ़ रही है। ऐसे में सभी डॉक्टरों को मरीजों के इलाज में अधिक सतर्कता बरतने को कहा गया है।
डॉ. आशुतोष सयाना, प्राचार्य दून मेडिकल कॉलेज