Latest:
Home उत्तराखंड

चक्रवात यास का उत्तराखंड में बुधवार को कोई असर नहीं चटख धूप खिली रही और मौसम शुष्क बना

चक्रवात यास का उत्तराखंड में बुधवार को कोई असर नहीं दिखा। यहां दिनभर चटख धूप खिली रही और मौसम शुष्क बना रहा। हालांकि, पश्चिमी विक्षोभ की सक्रियता के चलते कुमाऊं के कुछ हिस्सों में हल्की बारिश के आसार बन रहे हैं। मगर, राज्य के ज्यादातर शहरों में मौसम सामान्य रहेगा और तापमान में इजाफा होगा।

उत्तराखंड में कुछ दिन से मौसम शुष्क बना हुआ है और चटख धूप खिल रही है। इससे तापमान में तेजी से बढ़ोतरी हो रही है। खासकर मैदानी इलाकों में अब भीषण गर्मी का एहसास होने लगा है। मौसम विज्ञान केंद्र के मुताबिक अगले तीन दिन तापमान में बढ़ोतरी का यह क्रम बरकरार रहेगा। उसके बाद इसमें गिरावट दर्ज की जा सकती है। मौसम विज्ञानी रोहित थपलियाल ने बताया कि उत्तराखंड में अब तक यास का कोई प्रभाव नहीं दिखा है। एक ताजा पश्चिमी विक्षोभ गुरुवार को हिमालयी क्षेत्र में दस्तक दे सकता है। इससे कुमाऊं परिक्षेत्र के पिथौरागढ़, चंपावत, अल्मोड़ा व नैनीताल में कहीं-कहीं हल्की बारिश और बर्फबारी हो सकती है। अन्य जिलों में आसमान साफ रहने की उम्मीद है। झाजरा रेंज के मांडूवाला स्थित वन क्षेत्र में लगी आग बुधवार देर रात जंगल के किनारे पर स्थित सरस्वती विद्या मंदिर तक पहुंच गई। विद्यालय के प्रधानाचार्य और शिक्षकों ने आग पर बमुश्किल काबू पाया। झाजरा वन क्षेत्र में लगी आग खेड़ा से पचास फुटा मार्ग होते हुए यहां स्थित सरस्वती विद्या मंदिर तक पहुंच गई। आग लगने का आभास होते ही विद्यालय परिसर में बने आवासीय भवनों में रह रहे प्रधानाचार्य राकेश मेंदोला ने घटना की सूचना वन विभाग के अधिकारियों को दी और सहयोगी शिक्षकों के साथ आग बुझाने का प्रयास शुरू किया। कई घंटो की मशक्कत के बाद आग पर काबू पाया जा सका।

Similar Posts

© 2015 News Way· All Rights Reserved.