onwin giris
Home उत्तराखंड राजनीति

सहारनपुर जिले का चांदपुर गांव भी अब इसी तर्ज पर अपनी पहचान बना रहा, साइबर अपराध

जामताड़ा झारखंड का वो ही कस्बा जहां के अधिकतर युवा ठगी को ही रोजगार का जरिया बना चुके हैं। सहारनपुर जिले का चांदपुर गांव भी अब इसी तर्ज पर अपनी पहचान बना रहा है। एटीएम कार्ड बदलकर ठगी करने के आरोप में पुलिस की गिरफ्त में आए चांदपुर के दो युवाओं ने खुलासा किया है कि उनके गांव के करीब 80 युवा यही काम कर रहे हैं।

पुलिस ने सहारनपुर के चांदपुर गांव के युवकों प्रवेश और टीनू को एटीएम बदलकर ठगी करने के आरोप में गिरफ्तार किया है। दोनों ने बताया कि वह काफी समय से यह काम कर रहे हैं। उन्होंने आगे जो बताया उसने पुलिस के भी होश उड़ा दिया। दोनों ने दावा किया कि उनके गांव के करीब 80 युवक इस धंधे में लिप्त हैं। वो जगह-जगह एटीएम में जाकर लोगों को ठगते हैं। उनके ऐशोआराम को देखकर अन्य युवा भी तेजी से ठगी को ही रोजगार का रूप दे रहे हैं। सीओ विकासनगर नीरज सेमवाल ने बताया कि प्रवेश और टीनू इससे पहले रायवाला और सहसपुर से धोखाधड़ी के आरोप में जेल जा चुके हैं।
रामपुर निवासी अब्दुल कय्यूम पुत्र नूर मोहम्मद ने सहसपुर थाने में तहरीर दी थी। उन्होंने बताया कि वो इंडस्ट्रियल एरिया के पास स्थित एक एटीएम में पैसे निकालने गए थे। पैसे नहीं निकलने पर वहां मौजूद दो युवकों ने मदद करने की आड़ में उनका एटीएम कार्ड बदल दिया। बाद में 36 हजार रुपये खाते से निकलने का मैसेज आयो तो ठगी का पता चला। पुलिस ने सीसीटीवी कैमरों की मदद से सहारनपुर के बड़गांव क्षेत्र के चांदपुर गांव निवासी प्रवेश और टीनू को गिरफ्तार किया। थाना प्रभारी नरेश राणा ने बताया कि पकड़े गए आरोपियों के पास से 71 हजार रुपये बरामद किए गए हैं। 127 एटीएम कार्ड और घटना में प्रयुक्त बाइक बरामद की गई है।

 

Similar Posts

© 2015 News Way· All Rights Reserved.