Home उत्तराखंड मेडिकल

कोरोना वायरस से घबराकर चीन के शंघाई शहर से स्वदेश लौटे दंपती बच्ची को आइसोलेशन वार्ड में नहीं कराया भर्ती

Facebooktwittermailby feather

कोरोना वायरस से घबराकर चीन के शंघाई शहर से स्वदेश लौटे दंपती की 11 माह की बच्ची को रविवार रात बुखार आने पर सोमवार को जिला अस्पताल में उसकी मेडिकल जांच की गई। डॉक्टरों का कहना है कि बच्ची का सैंपल पुणे स्थित लैब में भेजा जाएगा। वहीं, हिदायत देने के बावजूद दंपती ने बच्ची को आइसोलेशन वार्ड में भर्ती नहीं कराया और उसे घर ले गए।चीन में नौकरी कर रहे शक्तिफार्म निवासी दंपती कोरोना वायरस के प्रकोप से घबराकर 26 जनवरी को शंघाई से नई दिल्ली की फ्लाइट पकड़कर स्वदेश लौट आए थे। दिल्ली एयरपोर्ट में मौजूद डॉक्टरों ने कोरोना वायरस के चलते उनकी थर्मल जांच की। जांच में वह खतरे से बाहर बताए गए थे। इसके बाद जब वह ऊधमसिंह नगर पहुंचे तो स्वास्थ्य विभाग की ओर से उन्हें काउंसलिंग के लिए बुलाया गया था।

काउंसलिंग में उन्हें बताया गया था कि किसी भी प्रकार की दिक्कत होने पर वे स्वास्थ्य विभाग को अपडेट देंगे। रविवार रात बच्ची को हल्का बुखार होने पर दंपती ने स्वास्थ्य विभाग को इसकी सूचना दी। स्वास्थ्य विभाग ने उन्हें जिला अस्पताल में बच्ची की मेडिकल जांच के लिए बुलाया।इमरजेंसी वार्ड में तैनात डॉ. आरडी भट्ट ने बताया कि बच्ची को हल्का बुखार था। परिजनों को हिदायत दी गई कि वे बच्ची को 15 दिन तक आइसोलेशन वार्ड में भर्ती कराएं लेकिन परिजनों ने बच्ची के घर में ज्यादा सुरक्षित रहने की बात कही और उसे लेकर चले गए।एसीएमओ डॉ. अविनाश खन्ना ने बताया कि समझाए जाने के बावजूद परिजनों ने बच्ची को आइसोलेशन वार्ड में भर्ती नहीं कराया और उसे घर ले गए। उन्होंने बताया कि बच्ची के सैंपल को पुणे स्थित लैब में विशेष तरह की थ्री लेयर पैकिंग में भेजा गया है। रिपोर्ट आने के बाद ही इस संबंध में कुछ कहा जा सकेगा।

Similar Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

© 2015 News Way· All Rights Reserved.