दिल्ली के प्राइवेट अस्पताल कर रहे हैं कोरोना बेड्स की ब्लैक मार्केटिंग :मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल

Facebooktwittermailby feather

दिल्ली के अस्पतालों में कोरोना वायरस मरीजों को बेड्स की कमी पर दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा है कि कुछ प्राइवेट अस्पताल कोरोना मरीजों को बेड उपलब्ध नहीं करा रहे हैं और ऐसे अस्पतालों के इस काम को देखते हुए दिल्ली सरकार ने फैसला किया है कि अब दिल्ली के सभी सरकारी अस्पतालों की रिसेप्शन पर दिल्ली सरकार का प्रतिनिधी बैठेगा और वहां पर कोरोना मरीजों के लिए पड़े बेड्स और वेंटीलेटर की जानकारी अपने  पास रखेगा और अगर कोई कोरोना मरीज अस्पताल पहुंचता है तो उसे बेड मुहैया कराने में सहायता करेगा। 

अरविंद केजरीवाल ने बताया कि दिल्ली के कुछ प्राइवेट अस्पताल कोरोना मरीजों को अपने यहां भर्ती करने से आनाकानी कर रहे हैं और कुछ प्राइवेट अस्पताल कोरोना मरीजों से ईलाज के बदले में लाखों रुपए की मांग भी कर रहे हैं। अरविंद केजरीवाल ने बताया कि ऐसे अस्पतालों के रवैये को देखते हुए ही मंगलवार को दिल्ली कोरोना एप लॉन्च की गई थी जिसपर दिल्ली के सभी अस्पतालों में कोरोना मरीजों के लिए खाली पड़े बेड्स का ब्यौरा दिया जा रहा है। अरविंद केजरीवाल ने बताया कि दिल्ली कोरोना एप लॉन्च करने के बाद कुछ प्राइवेट अस्पतालों की तरफ से खूब बवाल हुआ और पता चला कि कुछ अस्पताल छुपा रहे हैं कि कोरोना मरीजों के लिए बेड खाली हैं या नहीं।