बेटी की लव मैरिज रुकवाने के लिए सहारा बना कोरोना

Facebooktwittermailby feather

एमपी के खंडवा जिले में एक लड़की अपने घर वालो के खिलाफ जाकर लवमैरिज करने के लिए खंडवा कोर्ट परिसर पहुँची। लड़की के घरवालों को लड़का पसन्द नही था इसलिए वह इस शादी के खिलाफ थे लेकिन लड़की ने किसी की ना सुनते हुए कोर्ट मैरिज करने का फैसला लिया। शादी के लिए लडका लड़की कोर्ट पहुंचे वहाँ पहुँच कर शादी के लिए कागजी प्रक्रिया को पूरा किया जा रहा था कि इसी बीच लड़की के घर वाले वहां आ पहुंच गए। लड़की के घर वालों ने वहां मौजूद वकील से कहा कि लड़की कोरोना पॉजिटिव है, इससे दूर रहिए। उसके बाद खंडवा जिला न्यायलय में हड़कंप मच गया। इसके साथ ही लड़की के परिजनों ने स्वास्थ्य विभाग के हेल्पलाइन नंबर 104 पर भी इसकी सूचना दी, साथ ही परिजनों ने स्वास्थ्य विभाग से कहा कि कोरोना पॉजिटिव लड़की कोर्ट में विवाह के लिए शपथ-पत्र बनवा रही है।

शपथ पत्र बनाने में लगे वकील और मुंशी ने किनारा पकड़ लिया। उसके बाद वकील ने कहा कि पहले आप कोरोना की जांच करवा लें। आपकी रिपोर्ट जब नेगेटिव आ जाएगी, तब हम आपकी मदद करेंगे। उन्होंने ने कहा कि ऐसी परिस्थित में कोर्ट में कोई भी वकील आपका केस नहीं लेगा। जिसके बाद स्वास्थ्य विभाग की टीम भी जिला न्यायालय पहुंच गई। स्वास्थ्य विभाग की टीम लड़की को लेकर जिला अस्पताल पहुंची। जांच के लिए वहां उसका सैंपल लिया गया, उसके बाद लड़की को 14 दिन के लिए होम क्वारंटीन कर दिया गया। जानकारी के अनुसार अमलपुरा क्षेत्र की रहने वाली 19 वर्षीय लड़की अपने ही समाज के एक युवक से शादी करने जा रही थी