Home उत्तराखंड राजनीति

उत्तराखंड में कांग्रेस के नेता आपसी मतभेदों के बावजूद सरकार और भाजपा के खिलाफ मुहिम को धार देने के लिए एकजुट दिखाई देंगे

उत्तराखंड में कांग्रेस के नेता आपसी मतभेदों और अंतर्विरोधों के बावजूद सरकार और भाजपा के खिलाफ मुहिम को धार देने के लिए एकजुट दिखाई देंगे। प्रदेश कांग्रेस समन्वय समिति की बैठक में तमाम दिग्गज नेताओं की मौजूदगी ने पार्टी की आगे की रणनीति का खुलासा भी कर दिया। समन्वय समिति मनभेदों को दूर कर सांगठनिक रूप से मजबूती के लिए आगे का रोडमैप आगामी तीन अगस्त को होने वाली कोर कमेटी की बैठक में रखेगी।

2022 के चुनाव को ध्यान में रखकर कांग्रेस नेतृत्व ने प्रदेश में बड़े स्तर पर फेरबदल को अंजाम दिया है। इस बदलाव की वजह से भी प्रदेश के दिग्गज नेताओं के बीच आपस में मनमुटाव और खिंचाव साफ महसूस किया गया। इस सबके बावजूद पूर्व प्रदेश अध्यक्ष किशोर उपाध्याय की अध्यक्षता में गठित प्रदेश कांग्रेस समन्वय समिति की पहली बैठक में सभी सदस्य जुटे। प्रदेश कांग्रेस मुख्यालय राजीव भवन में हुई इस बैठक में बतौर सदस्य प्रदेश अध्यक्ष गणेश गोदियाल, नेता प्रतिपक्ष प्रीतम सिंह, पूर्व मुख्यमंत्री व कांग्रेस महासचिव हरीश रावत, राज्यसभा सदस्य प्रदीप टम्टा, राष्ट्रीय मीडिया समन्वयक जरिता लैटफ्लैंग, पूर्व राष्ट्रीय सचिव प्रकाश जोशी ने शिरकत की।

Similar Posts

© 2015 News Way· All Rights Reserved.